प्रयागराज, जेएनएन। इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय (इविवि) में वर्षों पुरानी परंपरा अखिरकार टूट गई। इविवि प्रशासन ने गुरुवार को छात्र परिषद चुनाव की तिथि की घोषणा कर दी। साथ ही यह भी स्पष्ट कर दिया कि गुरुवार से आदर्श आचार संहिता भी लागू हो गया है। इसमें पहले प्रत्येक संकाय से छात्र प्रतिनिधि का प्रत्यक्ष तौर पर पोल होगा।

महिलाओं की 50 फीसद भागीदारी रहेगी

इलाहाबाद विश्वविद्यालय में छात्र परिषद के चुनाव अधिकारी प्रो. आरके सिंह ने इस संबंध में गुरुवार को प्रेसवार्ता की। इस दौरान उन्होंने बताया कि छात्र परिषद का मतदान 21 अक्टूबर को संपन्न कराया जाएगा। इसके बाद चुने हुए प्रतिनिधि 22 अक्टूबर को छात्र परिषद के प्रतिनिधियों का चुनाव करेंगे। प्रो. आरके सिंह ने बताया कि 22 अक्टूबर को ही चुनाव के परिणाम की भी घोषणा कर दी जाएगी। साथ ही शपथ भी ग्रहण कराया जाएगा। खास बात यह है कि इस चुनाव में महिलाओं की 50 फीसद भागीदारी सुनिश्चित की गई है।

हत्या के विरोध में इविवि के छात्रों ने निकाला कैंडल मार्च

झांसी में फर्जी एनकाउंटर में मारे गए पुष्पेंद्र यादव और बस्ती में एपीएन पीजी कॉलेज के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कबीर तिवारी की हत्या के विरोध में इलाहाबाद विश्वविद्यालय के छात्रों में आक्रोश व्याप्त है। छात्रों ने बालसन चौराहे से चंदशेखर आजाद पार्क तक कैंडल मार्च निकाला। साथ ही इंसाफ की मांग करते हुए सरकार के खिलाफ प्रतिरोध मार्च निकाला। छात्रों ने कहा कि सरकार पीडि़त परिवार को न्याय देने के साथ उचित मुआवजा देते हुए दोषियों पर कठोर कार्रवाई करे। इस दौरान पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष ऋचा सिंह, पूर्व अध्यक्ष अवनीश यादव, पूर्व उपाध्यक्ष अदील हमजा, पूर्व उपाध्यक्ष चंद्रशेखर चौधरी, पूर्व मंत्री अंकुश यादव, अखिलेश गुप्ता, दिनेश चौधरी, अविनाश विद्यार्थी, अजय सम्राट सुनील कुमार यादव, अखिलेंद्र प्रताप सिंह, अखिलेश यादव आदि मौजूद रहे।

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस