प्रयागराज, जेएनएन। इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय (इविवि) में दशहरा के बाद अक्टूबर के दूसरे सप्ताह में छात्र परिषद का पोल होगा। इसके लिए इविवि प्रशासन की ओर से तैयारी पूरी कर ली गई है। अब जिला प्रशासन की ओर से हरी झंडी मिलने के बाद तिथि की घोषणा कर दी जाएगी। हालांकि, इविवि परिसर में छात्र परिषद के विरोध में छात्रों का आंदोलन जारी है।

छात्र परिषद का छात्र लगातार विरोध कर रहे हैं

दरअसल, 29 जून को हुई कार्य परिषद की बैठक में इविवि में छात्रसंघ को बैन कर दिया गया था। इसकी जगह छात्र परिषद का मॉडल लागू किया गया। छात्र लगातार इसका विरोध कर रहे हैं। मामले की शिकायत मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक से भी की गई। यही नहीं भाजपा से कौशांबी के सांसद विनोद सोनकर ने छात्रसंघ बहाली का मसला संसद में भी उठाया। छात्रों ने छात्र परिषद के विरोध में समिति गठित कर महापंचायत का निर्णय लिया है। हालांकि, बाढ़ की वजह से कार्यक्रम टल गया। ऐसे में इविवि प्रशासन के लिए छात्र परिषद का गठन चुनौती है।

दीक्षा समारोह के बाद तिथि हो सकती है घोषित

पूर्व में इविवि प्रशासन ने दावा किया था कि 20 अगस्त से पहले चुनाव करा लिया जाएगा। इसके बाद पांच सितंबर को शिक्षक दिवस पर दीक्षा समारोह की वजह से कार्यक्रम टल गया। उम्मीद थी कि दीक्षा समारोह के बाद किसी भी दिन इविवि प्रशासन छात्र परिषद के लिए चुनाव की तिथि घोषित कर देगा। हालांकि, अब दशहरा बाद ही हो सकेगा। जिला प्रशासन इस वक्त बाढ़ में व्यस्त है अन्यथा इसी बीच चुनाव हो जाता।

बोले इविवि के चुनाव अधिकारी

चुनाव अधिकारी, इविवि के चुनाव अधिकारी प्रो. आरके सिंह कहते हैं कि जिला प्रशासन की व्यस्तता की वजह से चुनाव टाला गया है। दशहरा के बाद इविवि में होने वाले छात्र परिषद के गठन की तिथि घोषित कर दी जाएगी।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस