प्रयागराज, जागरण संवाददाता। स्‍पेशल टास्‍क फोर्स (एसटीएफ) को पिछले तीन साल से फरार चल रहे 50 हजार के इनामी बदमाश को पकड़ने में सफलता मिली। इनामी बदमाश धर्मेंद्र उर्फ ननका को प्रयागराज के सोरांव के बढ़इया गांव के पास से पकड़ा गया। वह थरवई थाना क्षेत्र के बनकेशर गांव निवासी अभियुक्‍त के कब्जे से तमंचा, कारतूस, मोबाइल, आधार कार्ड और नकदी बरामद हुआ। वह हत्‍या और लूट की वारदात को अंजाम दे चुका है

वारदात के बाद मुंबई भाग जाता था धर्मेंद्र

सीओ एसटीएफ नवेंदु कुमार ने बताया कि धर्मेंद्र उर्फ सुरेंद्र उर्फ भालेंद्र उर्फ ननका पासी बहुत ही शातिर अपराधी है। वह अक्सर अपना नाम बदलकर लूट, डकैती की घटनाओं को अंजाम देता था। इसके बाद मुंबई भाग जाता था, ताकि उसकी गिरफ्तारी न हो सके। पूछताछ में पता चला है कि 30 जनवरी 2018 को सोरांव के बिगहिया पुल के पास अपने दो साथियों के साथ अपाचे बाइक लूटी थी। इसके बाद 12 फरवरी 2018 को जमुआ चौराहे पर आभूषण कारोबारी को भी लूटा था। हत्या में भी उसका नाम प्रकाश में आया था।

फरार होने के कारण उस पर 50 हजार का इनाम घोषित किया गया

जब स्थानीय पुलिस ने उसकी तलाश में छापेमारी शुरू की तो ननका मुंबई भाग गया। वहां कुछ छोटा मोटा काम करता और बीच-बीच में अपने गांव भी आता रहता था। गिरफ्तारी न होने पर उस पर सोरांव थाने से 50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया था।

सोरांव व थरवई थाने में 10 मुकदमे दर्ज हैं

इसी बीच एसटीएफ को पता चला कि ननका प्रयागराज आया हुआ है। तब दारोगा वेद प्रकाश पांडेय की टीम को गिरफ्तारी के लिए लगाया गया। गुरुवार को तीन बजे के करीब टीम ने बढ़इया गांव के पास स्थित मुर्गी दाना एजेंसी के पास घेरेबंदी कर बदमाश को दबोच लिया गया। ननका के खिलाफ सोरांव व थरवई थाने में 10 आपराधिक मुकदमे दर्ज हैं।

 

Edited By: Brijesh Srivastava