कौशांबी, जागरण संवाददाता। एडीजे की कार को टक्कर मारने के प्रकरण में कोखराज पुलिस अब क्षतिग्रस्त कार का टेक्निकल मुआयना कराने के लिए फतेहपुर जनपद जाएगी। यहीं नहीं, कार में टक्कर के दौरान जख्मी हुए एडीजे के गनर का मेडिकल परीक्षण भी फतेहपुर के अस्पताल में कराया जाएगा। इसके लिए कोखराज पुलिस ने उच्चाधिकारियों से अनुमति के बाद फतेहपुर के पुलिस अधीक्षक व एआरटीओ को पत्र भेजा है।

फतेहपुर जाते वक्त किया गया था हमला

प्रयागराज से फतेहपुर लौट रहे एडीजे (पाक्सो न्यायालय) मोहम्मद अहमद खान की कार में चार दिन पहले कोखराज के चाकवन चौराहा के समीप इनोवा गाड़ी चालक ने टक्कर मार दी। इस घटना में गनर को मामूली रूप से चोट पहुंची थी। एडीजे ने कोखराज थाने में तहरीर देकर इनोवा चालक पर हत्या के प्रयास करने का आरोप लगाया। पुलिस ने उनकी तहरीर पर इनोवा चालक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू की है। पुलिस ने एडीजे की क्षतिग्रस्त कार का टेक्निकल मुआयना कराने की बात कही, लेकिन वह गाड़ी लेकर फतेहपुर चले गए थे। ऐसे में कार्रवाई की प्रक्रिया थोड़ी बढ़ गई है। विवेचक जमीर अहमद ने शनिवार को फतेहपुर पहुंचकर एडीजे का बयान दर्ज किया। इस दौरान उन्होंने तहरीर में लिखी गई बात को दोहराया। बयान में कहा कि उन पर हमला ही हुआ था। देर शाम वापस लौटे विवेचक ने इसकी जानकारी सीओ सिराथू व थानाध्यक्ष को दी। विवेचना की प्रक्रिया में घायल गनर का मेडिकल परीक्षण व एडीजे की क्षतिग्रस्त कार के टेक्निकल मुआयना की रिपोर्ट भी शामिल किया जाएगा। इसके लिए उच्चाधिकारियों की अनुमति लेते हुए फतेहपुर के एसपी व एआरटीओ को पत्र भेजा गया है।

सीओ ने यह बताया

एडीजे प्रकरण में उनका बयान विवेचक द्वारा फतेहपुर जाकर दर्ज करा लिया गया है। विवेचना में कानून प्रक्रिया पूरी करने के लिए क्षतिग्रस्त कार का टेक्निकल मुआयना व जख्मी हुए गनर का मेडिकल परीक्षण कराने को फतेहपुर पुलिस व एआरटीओ की मदद ली जा रही है। उच्चाधिकारियों के निर्देश पर फतेहपुर पुलिस व एआरटीओ को पत्र भेजा गया है।

- योगेंद्र कृष्ण नारायण, सीओ सिराथू

Edited By: Ankur Tripathi