प्रयागराज, जागरण संवाददाता। प्रोफेसर राजेंद्र (रज्जू भइया) राज्य विश्वविद्यालय से संबद्ध 193 महाविद्यालयों में नए शैक्षणिक सत्र 2021-22 से नए पाठ्यक्रमों का संचालन शुरू हो सकता है। इसके लिए आवेदन की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। अब आवेदन की स्क्रीनिंग होने के बाद इस पर अंतिम मुहर लगेगी।

नए पाठ्यक्रमों में आवेदन की अंतिम तिथि 30 अगस्त तय

राज्य विश्वविद्यालय प्रशासन की तरफ से नए पाठ्यक्रमों में प्रवेश देने के लिए कालेजों से आनलाइन आवेदन मांगे गए थे। आवेदन की अंतिम तिथि 30 अगस्त तय की गई थी। इस बीच मंडल के चारों जिलों (प्रयागराज, कौशांबी, फतेहपुर, प्रतापगढ़) से कुल 193 महाविद्यालयों ने नए शैक्षिक सत्र 2021-22 में नए पाठ्यक्रमों के संचालन की अनुमति मांगी। सभी ने अलग-अलग पाठ्यक्रमों के लिए आवेदन किए हैं। संबद्धता विभाग में अब आवेदन की स्क्रीनिंग प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। तमाम विद्यार्थी नए पाठ्यक्रमों में पढ़ाई शुरू होने की प्रतीक्षा में हैं।

कमेटी पाठ्यक्रम के संचालन के लिए निर्धारित मानकों का भौतिक सत्यापन करेगी

इसी बीच कुलपति की अनुमति पर एक कमेटी का भी गठन कर दिया। यह कमेटी पाठ्यक्रम के संचालन के लिए निर्धारित मानकों का भौतिक सत्यापन करेगी। इसके बाद कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर महाविद्यालयों को नए पाठ्यक्रम के संचालन की अनुमति दी जाएगी। कयास लगाए जा रहे हैं कि अक्टूबर के दूसरे सप्ताह में मानकों के कसौटी पर खरा उतरने वाले महाविद्यालयों को इजाजत दी जाएगी। शैक्षणिक सत्र 2020-21 में मंडल से कुल 34 महाविद्यालयों को नए पाठ्यक्रमों के संचालन की मंजूरी दी गई थी। इसमें 27 महाविद्यालयों को स्थायी और सात को अस्थायी पाठ्यक्रम संचालन की मंजूरी दी गई थी।

कुलपति ने यह बताया

नए सत्र में महाविद्यालयों ने नए पाठ्यक्रमों में संचालन समेत एनओसी, स्थायी संबद्धता, अस्थायी संबद्धता और विस्तारण के लिए आवेदन किया है। उम्मीद है कि अक्टूबर के दूसरे सप्ताह में कमेटी के रिपोर्ट के आधार पर मंजूरी दे दी जाएगी।

- प्रो. अखिलेश कुमार सिंह, कुलपति।

Edited By: Ankur Tripathi