प्रयागराज, जेएनएन। प्रदेश सरकार के प्रवक्ता एवं कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि घुसपैठिये भारतीयों का हक खा रहे हैैं। भारतीय मुसलमानों का हक मारने वालों को भारत में रहने का कोई अधिकार नहीं है। राजापुर स्थित अपने आवास पर प्रतियोगी छात्रों और शहर पश्चिमी क्षेत्र के प्रधानों के बीच कैबिनेट मंत्री ने कहा कि वर्ष 1971 में आजाद होने के बाद बांग्लादेश में 14 फीसद ङ्क्षहदू अल्पसंख्यक थे। आज तीन प्रतिशत ङ्क्षहदू वहां रह गए हैैं। पाकिस्तान और अफगानिस्तान में भी अल्पसंख्यकों का जीवन स्तर किसी से छिपा नहीं है।

बोले-विपक्ष ने अफवाह उड़ाकर भड़काने का प्रयास करते हुए माहौल खराब किया है

मंत्री सिद्धार्थनाथ ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून में बांग्लादेश, पाकिस्तान, अफगानिस्तान के अल्पसंख्यक या शरणार्थी को नागरिकता प्रदान करने का प्रावधान है। विपक्ष ने विशेष तौर से कांग्रेस और सपा ने अफवाह उड़ाकर भड़काने का प्रयास करते हुए माहौल खराब करने का काम किया है। कैबिनेट मंत्री ने कहा कि भारत में नागरिक रजिस्टर पंजिका पहले भी था, जिसमें देश में रहने वाले भारतीयों का विवरण होता है। जो भी भारतीय मुसलमान भारत में निवास कर रहे हैैं, उन्हें कोई बाहर नहीं कर सकता है। हां, घुसपैठियों को देश से बाहर जाना पड़ेगा।

मंत्री सिद्धार्थनाथ ने कहा-कानून को हाथ में लेने वाले बख्शे नहीं जाएंगे

कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ ने कहा कि भारतीय नागरिकता संशोधन कानून के बारे में भाजपा कार्यकर्ता गांव-गांव, गली-गली जाकर लोगों को बताएंगे। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में लोकतांत्रिक तरीके से सीएए और एनआरसी पर अपनी बात रखना चाहिए। कानून से खिलवाड़ नहीं करना चाहिए। कानून को हाथ में लेने वाले बख्शे नहीं जाएंगे।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस