प्रयागराज, जागरण संवाददाता। बीमारियों में इलाज का तरीका नई वैज्ञानिक तकनीकों के आधार पर पहले से आसान करने में डाक्टरों को एक बड़ी सौगात मिलने वाली है। इलाहाबाद मेडिकल एसोसिएशन 25 सितंबर को बैक टू बेसिक्स विषय पर सेमिनार करेगा जिसमें देश के अनेक सुपर स्पेशलिस्ट शामिल होकर व्याख्यान देंगे।

एएमए कराएगा सेमिनार, स्टेराइड से त्वचा पर पड़ने वाले प्रभाव पर भी होगी चर्चा

नई दिल्ली के इंडोक्राइनोलाजिस्ट डा. दीप दत्ता बताएंगे कि मधुमेह से पहले कुछ संकेत भी आते हैं जिन पर ध्यान केंद्रित कर डाक्टर अपने मरीज का बेहतर इलाज कर सकते हैं। वहीं नागपुर के त्वचा रोग विशेषज्ञ डा. विक्रांत साओजी स्टेराइड से त्वचा पर पड़ने वाले प्रभाव और सावधानी के बारे में जानकारी देंगे। यह जानकारी शुक्रवार को एएमए अध्यक्ष डा. सुजीत कुमार सिंह ने प्रेस कांफ्रेंस में दी।

बताया कि उप्र लोकसेवा आयोग के अध्यक्ष संजय श्रीनेत इस आयोजन के मुख्य अतिथि होंगे। मोतीलाल नेहरू मेडिकल कालेज से सेवानिवृत्त डा. सरिता बजाज प्रमुख रूप से शामिल होंगी। बताया कि ईरा मेडिकल कालेज लखनऊ के निदेशक व पल्मोनरी मेडिसिन विभागाध्यक्ष डा. राजेंद्र प्रसाद सीटी स्कैन के युग चेस्ट एक्सरे के उपयोग, फोर्टिस हास्पिटल गुरुग्राम के गैस्ट्रोइंट्रो लाजी के पूर्व विभागध्यक्ष डा. गौरदास चौधरी, नारायण नेत्रालय बंग्लुरू के विट्रियोरेटिना नेत्र विभाग की विभागाध्यक्ष डा. चैत्रा जयदेव, शारीरिक बीमारियों से आंखों पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव पर चर्चा करेंगी।

दिल्ली, मुंबई, बंग्लुरू से भी नामचीन चिकित्सक करेंगे यहां के चिकित्सकों का मार्गदर्शन

इनके अलावा मुंबई, बंग्लुरू, एसजीपीजीआइ से भी डाक्टर आएंगे जो चिकित्सा में नई तकनीक की जानकारी देंगे। प्रेस कांफ्रेंस में सचिव डा. आशुतोष गुप्ता, वैज्ञानिक सचिव डा. अनुभा श्रीवास्तव और डा. सिद्धार्थ भी मौजूद रहे।

Edited By: Ankur Tripathi