प्रयागराज,जेएनएन।  हाईवे पर लूटपाट करने वाले शातिर बदमाश मो. शाहरुख उर्फ बादशाह और मो. जावेद को स्पेशल टॉस्क फोर्स (एसटीएफ) ने गिरफ्तार किया है। दोनों पर 25-25 हजार रुपये का इनाम था। अभियुक्तों के कब्जे से लूटा गया ट्रक और साढ़े चार हजार रुपये बरामद किए गए हैं। आरोपित सोरांव थाना क्षेत्र के मलाक हरहर रुदापुर गांव के रहने वाले हैं। इनके साथी जावेद, सलमान, दानिश और त्यागी अभी फरार हैं। उनकी भी तलाश चल रही है।

हाईवे पर करते थे लूट की वारदात

एसटीएफ के एडिशनल एसपी नीरज पांडेय ने बताया कि आजमगढ़ निवासी शकील 20 जून 2020 की रात अपनी ट्रक लेकर खलासी के साथ रीवां में सामान लोड करने के लिए जा रहा था। कौंधियारा थाना क्षेत्र में जारी बाजार के पास कार सवार बदमाशों ने ओवरटेक करके ट्रक को रोक लिया। फिर शकील और उसके खलासी का हाथ-पैर बांधकर रायबरेली में फेंक दिया। इसके बाद ट्रक व 50 हजार रुपये लूटकर भाग गए थे। कुछ दिन बाद कौंधियारा पुलिस ने गिरोह से जुड़े गोलू को पकड़ा तो मुख्य आरोपित शाहरुख समेत अन्य के बारे में पता चला। इन पर इनाम भी घोषित किया, लेकिन गिरफ्त में नहीं आए। शातिर लुटेरों की गिरफ्तारी के लिए एसटीएफ इंस्पेक्टर केसी राय व अतुल सिंह की टीम को लगाया गया तो उन्होंने गुरुवार देर रात प्रयागराज-रीवां रोड पर दोनों को दबोच लिया।

दिल्‍ली में टोल टैक्‍स बूथ पर दो लोगों की हत्‍या कर की थी लूट

एडिशनल एसपी का यह भी कहना है कि शाहरुख ने अपने साथियों के साथ 2016 में साउथ वेस्ट नई दिल्ली के बदरपुर टोल टैक्स आफिस में दो लोगों की हत्या कर लूट को अंजाम दिया था। दिल्ली पुलिस ने जब गिरफ्तार किया तो वह नाबालिग था। इसके बाद फिर उसने अपने साथ कई नए लड़कों को शामिल किया और बीते साल सोरांव व गद्दोपुर स्थित पेट्रोल पंप पर लूटपाट की। इसके अलावा जौनपुर के मछलीशहर, डांडी व प्रयागराज में भी कई ट्रक को लूटकर उसके पहिए बिहार में बेंच चुके हैं। दोनों के खिलाफ डकैती, लूट और हत्या के कई मुकदमे दर्ज हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस