प्रयागराज, जागरण संवाददाता। दिव्यांगजनों के लिए विशिष्ट दिव्यांगता प्रमाण पत्र (यूडीआइडी) बनवाया जा रहा है। जनगणना के अनुसार प्रयागराज जिले में 1.78 लाख दिव्यांग हैं। फिलहाल 35,064 दिव्यांगों का ही प्रमाणपत्र बना है। इनमें 10,328 दिव्यांगजन ऐसे हैं, जिनका यूडीआइडी बना हुआ है। इसलिए तमाम दिव्यांग सरकारी योजनाओं के लाभ से वंचित हैं।

दिव्‍यांगों को यूडीआइडी कार्ड से मिलते हैं ये लाभ

जिन दिव्यांगजनों का यूडीआइडी कार्ड बन गया है, उन्हें रेल और बस में सफर करने पर रियायत मिलती है। इतना ही नहीं उन्हें राशन लेने में भी सुविधा होती है। क्योंकि यूनिक आइडी दिखाने पर ही लोगों को अब राशन दिया जाता है। यूडीआइडी होने पर कोई भी दिव्यांग देश के किसी भी कोने में रहे, उसे वहां पर सरकारी राशन जरूर मिल जाएगा। दिव्यांगजन के सामने पेट भरने की समस्या नहीं होगी। इसके अलावा सरकार द्वारा जितनी भी सरकारी योजनाएं चलाई जा रही हैं, वह उसके लिए पात्र होंगे। उसी के आधार पर उसका पंजीयन हो जाएगा।

एक ही स्‍थान पर दिव्‍यांगता संबंधी पूरी प्रक्रिया होती है

यूडीआइडी कार्ड को कोई भी विभाग नकार नहीं सकता है। इतनी सुविधा होने के बाद भी दिव्यांग जन यूडीआइडी कार्ड बनवाने में रुचि नहीं दिखा रहे हैं, जबकि जिला दिव्यांगजन कल्याण विभाग द्वारा इसके लिए कैंप से लेकर जागरूकता फैलाने की पूरी कोशिश की जाती है। कैंप में एक ही स्थान पर दिव्यांगता की जांच समेत आवदेन की पूरी प्रक्रिया पूरी कर ली जाती है।

जिला दिव्‍यांग कल्‍याण अधिकारी बोले- यूडीआइडी कार्ड जरूर बनवाएं

जिला दिव्यांग कल्याण अधिकारी नंद किशोर याज्ञिक का कहना है कि जब भी कोई दिव्यांगजन यूडीआइडी बनवाने के लिए संपर्क करता है तो शीघ्र उसका प्रमाणपत्र बनवा दिया जाता है। यूडीआइडी होने पर दिव्यांगजन को सभी सरकारी योजनाओं का लाभ मिलता है। इसलिए सभी दिव्यांगजन से अपील है कि वह अपना यूडीआइडी कार्ड जरूर बनवा लें।

Edited By: Brijesh Srivastava