प्रयागराज : प्रतापगढ़ जनपद स्थित कंधई थाना क्षेत्र के चौपाई गांव में शराब पीने पर आपत्ति जताने से गुस्साए कलयुगी पुत्र ने अपने ही पिता की जान ले ली। बांस से सिर पर किए गए प्रहार से पिता ने पल भर में दम तोड़ दिया। परिजन अंतिम संस्कार करने की तैयारी कर रहे थे। इसी बीच सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में ले लिया।

 चौपई गांव निवासी नरेंद्र सिंह (55) घर पर ही रहकर खेतीबारी करते थे। उनके तीन बेटे नीरज, सूरज (22), राहुल और दो बेटी सोनिका, मोनिका हैं। उनका बेटा सूरज प्रधान की भतीजी की जन्मदिन पार्टी में शामिल होने गया था। वहां से शराब पीकर वह घर पर आया। नरेंद्र ने शराब पीने पर नाराजगी जताई। आवेश में आकर सूरज ने घर के बाहर पड़े बांस से सिर पर कई वार कर लहूलुहान कर दिया। सूचना पर एंबुलेंस कर्मी पहुंचे लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। इस पर सूरज घर से भाग गया।

अंतिम संस्कार के दौरान पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में लिया

परिवार के लोग नरेंद्र के अंतिम संस्कार की तैयारी में लगे थे। इसी बीच सूचना पर चौकी इंचार्ज दीवानगंज उमेश ङ्क्षसह मौके पर पहुंचे और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेजा। एसओ संजय शर्मा का कहना है कि तहरीर नहीं मिली है। कार्रवाई की जा रही है।

आरोपित ससुराल में रहता था

नरेंद्र ङ्क्षसह की हत्या का आरोपित  बेटा सूरज अपनी ससुराल रायबरेली में रहता है। यहां घर पर नरेंद्र के दोनों बेटे, बेटी रहती हैं। वही माता-पिता की देखभाल करते थे। तीन दिन पूर्व सूरज ससुराल से घर पर आया था।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस