प्रयागराज, जागरण संवाददाता। इलाहाबाद विश्वविद्यालय में 400 प्रतिशत बढ़ी शुल्क वृद्धि के विरोध में चल रहे 18 दिनों से बैठे आमरण अनशन पर छात्र बैठे हैं। उनके समर्थन में आज शुक्रवार को 5 छात्रों ने सिर के बाल का मुंडन करवाया। इनमें सत्यम कुशवाहा, वेद प्रकाश सिंह, राहुल सरोज, अभिषेक शुक्ला और प्रवेश मिश्रा हैं।

आमरण अनशन पर बैठे है ये छात्र : इलाहाबाद विश्‍वविद्यालय में फीस वृद्धि के विरोध में अनशन पर छात्र अजय यादव सम्राट कर रहे हैं। इनके साथ छात्रनेता अखिलेश यादव, शाश्वत नितिन भूषण, सिद्धार्थ कुमार गोलू,अजय पांडेय बागी भी अनशन पर बैठे हैं।

डीएम ने वार्ता के लिए छात्र संगठनों को आमंत्रित किया :  इलाहाबाद विश्वविद्यालय में फीस वृद्धि को लेकर जारी आंदोलन के 18वें दिन डीएम ने छात्र संगठनों को वार्ता के लिए बुलाया। संयुक्त छात्र संघर्ष समिति ने इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया। मोर्चा की ओर से वक्तव्य जारी कर कहा गया कि अब जो भी बात होगी छात्रसंघ भवन पर ही होगी। दूसरी ओर छात्र आंदोलन की वजह से परिसर में भारी पुलिसबल तैनात कर दिया गया है। छात्र मुंडन कराकर विरोध प्रदर्शन की तैयारी कर रहे हैं और पुलिस छात्रों की हरकतों पर नजर बनाए हुए हैं।

विधानसभा में मामला उठा तो जिला प्रशासन की पहल : अब तक फीस वृद्धि के आंदोलन को लेकर गंभीरता न दिखाने वाले जिला प्रशासन ने मामला विधानसभा में उठने के बाद गंभीरता दिखानी शुरू कर दी। डीएम ने छात्र संगठनों को वार्ता के लिए सुबह 11 बजे बुलाया पर संयुक्त छात्रसंघर्ष समिति ने वार्ता से इनकार कर दिया। संयुक्त छात्र संघर्ष समिति के संयोजक अजय यादव सम्राट ने कहा कि अब जिला प्रशासन को जो भी वार्ता करती है वह आमरण अनशन स्‍थल पर ही होगी। अधिकारी आएं तो समाधान लेकर आएं। अनशन को तोड़ने की प्रयास करने पर गंभीर परिणाम होंगे। छात्र संगठनों ने कहा कि फीस वृद्धि वापस नहीं हुई तो आंदोलन लगातार उग्र होता जाएगा।

फीस वृद्धि के विरोध में आंदोलन उग्र : फीस वृद्धि को लेकर छात्र सोमवार से उग्र आंदोलन कर रहे हैं। सोमवार को छात्रनेता आदर्श भदौरिया ने आत्मदाह का प्रयास किया। अगले ही दिन कुलपति कार्यालय के बाहर सामूहिक आत्मदाह का प्रयास हुआ। गुरुवार को छात्रों ने छात्रसंघ भवन के गेट का ताला तोड़ा और कुलपति की प्रतीकात्मक शवयात्रा निकाली। इस दौरान पुलिस और छात्रों के बीच भारी नोकझोंक हुई थी।

Edited By: Brijesh Srivastava