प्रयागराज, जेएनएन। यूपी बोर्ड नए सत्र में हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की नए पैटर्न की सोलह और किताबें मुहैया करा रहा है। छह विषयों की इन किताबों का पाठ्यक्रम तैयार करके शासन का अनुमोदन पहले ही लिया जा चुका है, अब समय पर उन्हें उपलब्ध कराने के लिए ई-टेंडर भी जारी कर दिया गया है। पिछले सत्र में जिन किताबों का ई-टेंडर हुआ है, वे भी मार्च के अंतिम सप्ताह से बाजार में उपलब्ध होंगी। यूपी बोर्ड सचिव नीना श्रीवास्तव ने बताया कि मुद्रक इन किताबों को 15 मार्च तक बाजार में उपलब्ध करा देंगे। निविदाओं की सूचना वेबसाइट पर भी अपलोड है। 

इन किताबों का हुआ टेंडर 

  • हाईस्कूल - सामाजिक विज्ञान 
  • इंटर - इतिहास, भूगोल, नागरिक शास्त्र, अर्थशास्त्र, समाज शास्त्र 
  • नोट : छह विषयों की कुल 16 किताबें। 

समान शिक्षा की दिशा में बढ़े कदम

माध्यमिक शिक्षा परिषद यानी यूपी बोर्ड की ओर से प्रदेश भर में करीब 26 हजार से अधिक माध्यमिक कालेज संचालित हैं। उन कालेजों का पाठ्यक्रम, किताबें और परीक्षा के अलावा शिक्षक चयन की अर्हता तय करने का दायित्व यूपी बोर्ड का है। इधर के वर्षों में यूपी बोर्ड इस कार्य में सबसे आगे रहा है। पिछले सत्र से समान शिक्षा की दिशा में आगे बढ़ते हुए सीबीएसई बोर्ड की तर्ज पर एनसीईआरटी का पाठ्यक्रम लागू किया गया। बोर्ड ने तेजी दिखाकर बाजार में समय पर किताबें मुहैया कराई। वहीं, प्राथमिक स्तर की किताबें सत्र शुरू होने के महीनों बाद स्कूलों में उपलब्ध हो सकी। 

शासन से मिल चुका अनुमोदन 

यूपी बोर्ड ने नई किताबों के साथ ही अगले सत्र की तैयारी भी महीनों पहले शुरू कर दी थी, कक्षा नौ व ग्यारह में शुरू की गई छह विषयों की 16 किताबों को आगामी सत्र में हाईस्कूल व इंटर में पढ़ाया जाना है। इसके लिए पिछले वर्ष की एनसीईआरटी के तहत उन्हें तैयार करके शासन से अनुमोदन के लिए भेजा गया। अब उन किताबों को बाजार में उपलब्ध कराने के लिए ई-टेंडर शुक्रवार को जारी किया गया है। बोर्ड ने छह फरवरी तक निविदाएं मांगी हैं। उसी दिन दोपहर में तकनीकी बिड खोली जाएगी और 11 फरवरी तक मुद्रकों से अनुबंध करके कार्यादेश जारी किया जाएगा। 

 

Posted By: Nawal Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप