प्रयागराज,जेएनएन। पडोसी जनपद प्रतापगढ़ में रिटायर्ड रेल कर्मी के बेटे को अगवा करके बदमाशों ने 10 लाख रुपये फिरौती मांगी। परिजनों के बताने पर पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए दो बदमाशों को मुठभेड में गिरफ्तार कर लिया। मुठभेड़ में एक बदमाश के पैर में गोली लगी। अगवा किए गए बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया गया।

क्रिकेट खेलते समय बदमाशों ने किया था अगवा

नगर कोतवाली के सिपाहमहेरी गांव निवासी रिटायर्ड रेलकर्मी रामसुंदर पाल के बेटे नितेश (10) को रविवार दोपहर क्रिकेट खेलने के दौरान गेंद दिलाने का झांसा देकर कल्लू उर्फ सूरज पुत्र शोभनाथ निवासी सिपाहमहेरी, अनिरुद्ध पुत्र रामकैलाश, रितिक पुत्र सुरेंद्र बहादुर व शिवपूजन सरोज निवासीगण जोलहापुर, थाना रानीगंज ने अगवा कर लिया था। शाम छह बजे चुराए गए मोबाइल से शातिरों ने रामसुंदर को फोन करके बच्चों को अगवा करने की जानकारी देते हुए 10 लाख रुपये फिरौती मांगी। फौरन रामसुंदर ने पृथ्वीगंज पुलिस चौकी पहुंचकर मामले की जानकारी दी। चौकी प्रभारी शनि कुमार ने कोतवाल, सीओ, एएसपी व एसपी को घटना की जानकारी दी।

पुलिस देखकर बदमाशों ने की फायरिंग

इसके बाद एसपी ने जिले की सीमा सील कराते हुए सर्विलांस, स्वाट टीम, कोतवाली पुलिस और सीओ सिटी को तलाश में लगा दिया। जिस नंबर से फोन आया था, पुलिस ने उसे ट्रेस कर लिया। सर्विलांस से अपहर्ताओं की लोकेशन सोमवार को भोर में करीब चार बजे नगर कोतवाली के पृथ्वीगंज क्षेत्र में मिली। इस पर कोतवाल सुरेंद्रनाथ व स्वाट टीम प्रभारी अजय सिंह ने फोर्स के साथ औवार पुल के पास घेरेबंदी की। तभी पृथ्वीगंज बाजार की ओर से बाइक सवार दो युवक आते दिखाई दिए, बीच में एक बच्चा भी बैठा था। पुलिस ने उन्हें पकडऩे का प्रयास किया तो बदमाशों ने पुलिस टीम पर गोली चला दी। जवाबी फायरिंग में बदमाश अनिरुद्ध के बाएं पैर में गोली लगी और वह गिर पड़ा। इतने में पुलिस कर्मियों ने दौड़ाकर अनिरुद्ध व कल्लू को पकड़कर नितेश को सकुशल बरामद कर लिया।

अपहरण में शामिल दो अन्‍य बदमाशों की तलाश में लगी पुलिस

 घायल अनिरुद्ध को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। जिला अस्पताल पहुंचकर एसपी अभिषेक सिंह ने घायल बदमाश अनिरुद्ध से पूछताछ की। एसपी ने बताया कि इन बदमाशों को यह पता था कि रामसुंदर रिटायर हुआ है, उसे काफी पैसा मिला होगा। पैसे की लालच में रामसुंदर के बेटे नितेश को अगवा करने की  साजिश रची और उसे बाजार घुमाने व गेंद दिलाने के बहाने अनिरुद्ध, कल्लू बाइक से अगवा कर ले गए। उनके साथ दूसरी बाइक पर रितिक व शिवपूजन थे। इसके बाद साजिश के तहत चोरी के मोबाइल से फोन करके 10 लाख रुपये की फिरौती मांगी। सर्विलांस से अपहर्ताओं को ट्रेस किया गया और मुठभेड़ में औवारपुल से अनिरुद्ध, कल्लू को गिरफ्तार करके अपहृत नितेश को बरामद कर लिया गया।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस