इलाहाबाद : मुख्य विकास अधिकारी द्वारा गोद लिए गए प्राथमिक विद्यालय सरपतीपुर का हाल इन दिनों बेहाल है। इस स्कूल में कई समस्याओं का अंबार है। विद्यालय में बिजली का कनेक्शन नहीं है। स्कूल तक पहुंचने के लिए रास्ता भी नहीं है। इससे स्कूल के बच्चों और शिक्षकों को खेत की मेड़ से होकर स्कूल पहुंचना पड़ता है।

इस स्कूल में 214 बच्चे पढ़ते हैं, लेकिन रास्ते की समस्या के कारण बच्चों की उपस्थिति आधे से भी कम रहती है। विद्यालय के बाहर कूड़े का अंबार लगा रहता है। सफाईकर्मी खानापूर्ति कर लौट जाते हैं। बरसात में खेतों में पानी भरे रहने से अब तक कई बच्चे फिसलकर गिर चुके हैं। स्कूल तक दो पहिया वाहन भी नहीं पहुंच पाते। अध्यापकों को आसपास के दुकानों पर दो पहिया वाहन खड़ा कर स्कूल जाना पड़ता है। गांव के आशीष कुमार प्रजापति, मो. अली, राय साहब वर्मा व रामचंद्र प्रजापति का कहना है कि ब्लॉक बहादुरपुर के इस स्कूल को पिछले साल सीडीओ ने गोद लिया था। तब से इस स्कूल का कोई कायाकल्प नहीं हुआ। पहले जैसा ही सब कुछ चल रहा है। रास्ते की समस्या से परेशान कई बच्चे स्कूल जाना बंद कर दिए। इससे बच्चों की बुनियादी शिक्षा प्रभावित हो रही है। प्रधानाध्यापिका अर्चना ¨सह का कहना है कि रास्ते की बहुत बड़ी समस्या है। यही नहीं अभी तक बच्चों को जूता व मोजा नहीं मिल पाया।

-------

रास्ते की समस्या का समाधान ग्राम पंचायत स्तर से होना है। इसके लिए बीडीओ को आवेदन पत्र दिया गया है।

-नरेंद्र ¨सह, खंड शिक्षाधिकारी, बहादुरपुर

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप