प्रयागराज, जागरण संवाददाता। इलाहाबाद हाई कोर्ट बार एसोसिएशन कार्यालय की सुरक्षा के लिए सुरक्षा बल की तैनाती की गई है। एल्डर कमेटी के अध्यक्ष की सहमति से कमेटी के सदस्य वरिष्ठ अधिवक्ता एनसी राजवंशी ने महानिबंधक को पत्र लिखकर निवर्तमान पदाधिकारियों के हस्तक्षेप से उत्पन्न स्थिति को देखते हुए सीआरपीएफ के चार जवानों की तैनाती की मांग की थी।

आप भी जानें पूरा मामला

मालूम हो कि बार एसोसिएशन कार्यालय अधीक्षक पवन पांडेय ने कमेटी के सदस्‍य वरिष्‍ठ अधिवक्‍ता एनसी राजवंशी को सूचित किया कि एल्डर कमेटी के अध्यक्ष व वरिष्ठ सदस्य द्वारा खाते के संचालन के अनुरोध को बैंक ने अस्वीकार कर दिया है। इसके कारण 8 अक्टूबर से 13 अक्टूबर तक कार्यालय में जमा पैसा 18 लाख 43 हजार 561 बैंक में जमा नहीं किया जा सका है। साथ ही एल्डर कमेटी का विगत वर्षों की तरह अलग खाता भी नहीं खुल पाया है। दो दिन छुट्टी के कारण दूसरे बैंक में भी खाता नहीं खुल सकेगा। 16 अक्टूबर को प्रयास किया जाएगा। जमा पैसा कार्यालय की शेफ में रखकर चाभी आपको हस्तगत कर रहा हूं।

महानिबंधक ने सुरक्षा बल तैनात करा दिया

इस पत्र के आधार पर एल्डर कमेटी के वरिष्ठ सदस्य एनसी राजवंशी ने हाई कोर्ट के आदेश व बाईलाज का हवाला देते हुए कहा है कि पिछली कार्यकारिणी का कार्यकाल 5 सितंबर 21 को समाप्त हो चुका है। कोर्ट के आदेश पर 5 अक्टूबर 21 को बार एसोसिएशन का कार्यभार एल्डर कमेटी ने संभाल लिया है लेकिन निवर्तमान पदाधिकारियों द्वारा बार एसोसिएशन के कार्य में अवरोध उत्पन्न किया जा रहा है। इसके कारण 14 अक्टूबर को 8 बजे से सीआरपीएफ के चार जवानों की तैनाती की जाए। 18 अक्टूबर को वार्षिक आम सभा होनी है। तब तक बार एसोसिएशन के सदस्यों द्वारा सदस्यता शुल्क जमा किया जा रहा है। राजवंशी के 13 अक्टूबर के पत्र पर महानिबंधक ने तत्काल कार्रवाई करते हुए सुरक्षा बल तैनात करा दिया है।

Edited By: Brijesh Srivastava