प्रयागराज, जागरण संवाददाता। पिछले दिनों प्रदेश की अदालतों में सुरक्षा इंतजाम पर इलाहाबाद हाई कोर्ट ने नाराजगी जाहिर और फिर अब शाहजहांपुर की अदालत में एक अधिवक्ता का गोली मारकर कत्ल हो गया। ऐसे में अदालतों में सुरक्षा व्यवस्था का मामला फिर गर्माया हुआ है। बुधवार को प्रदेश के अधिवक्ता इसी मसले पर न्यायिक कामकाज से भी विरत रहे। इसके मद्देनजर अब अदालतों में सुरक्षा घेरा कसा जाने लगा है। प्रयागराज में भी अब हाईकोर्ट की तरह जिला अदालत की भी सुरक्षा व्यवस्था मजबूत होगी। इसके लिए कचहरी परिसर में सुरक्षा कर्मियों के लिए कार्यालय बनाया जाएगा, जहां 20 पुलिसकर्मियों की नियुक्ति होगी। साथ ही जिला अदालत के सभी प्रवेश और निकास द्वार पर सशस्त्र जवानों की तैनाती की जाएगी। ताकि रात हो या दिन, सुरक्षा में किसी तरह की चूक न हो सके। बुधवार की रात एसएसपी सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने इंस्पेक्टर कुलदीप सेंगर को न्यायालय सुरक्षा प्रभारी के पद पर नियुक्त किया। अब उनके साथ दारोगा, हेड कांस्टेबल और सिपाही भी तैनात रहेंगे।

पुलिस अधिकारी पहुंचे कचहरी और देखा इंतजाम

प्रयागराज के पुलिस अधिकारियों का कहना है कि हाई कोर्ट के आदेश पर सुरक्षा व्यवस्था को और मजबूत बनाया जा रहा है। बुधवार दोपहर एसएसपी, एसपी क्राइम आशुतोष मिश्रा, एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह, सीओ अजीत सिंह चौहान के साथ कचहरी पहुंचे। वहां उन्होंने सुरक्षा-व्यवस्था और पार्किंग स्थल का जायजा लेते हुए तैयार किए गए प्लान के अनुरूप इंतजाम करने के निर्देश दिए। बताया गया कि अभी तक प्रवेश और निकास द्वार पर निहत्थे पुलिसकर्मियों की तैनाती होती थी लेकिन अब वहां असलहे से लैस जवान तैनात किए जाएंगे। दूसरे थाने के पुलिसकर्मियों के अलावा न्यायालय सुरक्षा के लिए भी तैनाती दी जाएगी। इंस्पेक्टर कुलदीप सेंगर और उनकी टीम सुरक्षा बंदोबस्त की जिम्मेदारी उठाएंगे। हालांकि यहां पैरामिलिट्री फोर्स की तैनाती नहीं की जाएगी। कोशिश रहेगी कि पुलिस बल से ही अदालत की सुरक्षा का घेरा लगातार मजबूत किया जाता रहे। 

Edited By: Ankur Tripathi