प्रयागराज, जागरण संवाददाता। प्रयागराज जिले में सरायइनायत थाना क्षेत्र के मोहनगंज बाजार में शनिवार सुबह आभूषण व्यवसायी गणेश सोनी से लूट हुई थी। सर्राफ को बदमाशों ने पूरे योजनाबद्ध तरीके से शिकार बनाया। जिस तरह से बदमाशों ने पलक झपकते वारदात को अंजाम दिया, उससे यह साफ है कि उनको यह पता था कि आभूषण व्यवसायी रुपये व जेवरात कहां रखता है। किस समय वह अकेले रहेगा, इसकी भी जानकारी बदमाशों को थी। इसके लिए बकायदा कई दिनों से रेकी की जा रही थी और फिर शनिवार सुबह घटना को अंजाम दिया गया।

बदमाशों ने मुंह पर बांध रखा था रुमाल

रामापुर चंदौहा गांव निवासी गणेश सोनी ने मोहनगंज बाजार में आभूषण की दुकान खोल रखी है। वह प्रतिदिन सुबह ही दुकान पर अकेले पहुंच जाते थे। शनिवार सुबह भी यही हुआ। वह दुकान में पहुंचे और साफ-सफाई में जुट गए। इसी बीच अचानक एक बदमाश मुंह पर रुमाल लगाए वहां पहुंचा और उनकी कनपटी पर तमंचा सटाते हुए बाेला कि चुप रहना, वरना गोली मार देंगे। इसके बाद दो और बदमाश दाखिल हुए। उन दोनाें ने भी रूमाल से मुंह ढक रखा था। तीनों तिजोरी तक ले गए और लॉकर खुलवाया। इसके बाद रूमाल से मुंह दबा दिया, जिससे गणेश अचेत हो गए और लाकर से बदमाश लाखों के आभूषण व 50 हजार रुपये नकद लेकर भाग निकले।

आसपास के लोगों को भनक तक नहीं लगी

मोहनगंज बाजार में दिनदहाड़े लूट की इतनी बड़ी वारदात हो गई और आसपास के लोगों को इसकी भनक तक नहीं लगी। बदमाशों ने आराम से सारा सामान समेटा और निकल गए। बाद में जब लोगों को इसकी जानकारी हुई तो वे हक्के-बक्के रह गए। उनकी समझ में नहीं आया कि आखिरकार दिनदहाड़े इस तरह की वारदात कैसे हो गई। पुलिस को पता चला तो हड़कंप मच गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने एक सीसीटीवी फुटेज खंगाला तो उसमें बदमाश नजर नहीं आए। अब पुलिस दो और सीसीटीवी फुटेज खंगालने की कोशिश कर रही है। पुलिस को उम्मीद है कि इससे बदमाशों के बारे में कुछ सुराग मिल सकता है।

Edited By: Brijesh Srivastava