प्रयागराज, जागरण संवाददाता। लगभग चार वर्षों से फाइलों में पड़े संगम पर रोप वे प्रोजेक्ट को धरातल पर उतारने की पहल शुरू हो गई है। मंडलायुक्त विजय विश्वास पंत ने पर्यटन विभाग को प्रोजेक्ट का प्रस्ताव फिर से तैयार कर शासन को भेजने के निर्देश दिए हैैं। मंडलायुक्त का कहना है कि महाकुंभ के पहले परियोजना पूरी हो जाएगी।

पर्यटन विभाग ने 2018 में तैयार किया था रोप-वे का प्रस्ताव

संगम का विहंगम दृश्य आसमान से दिखाने के लिए पर्यटन विभाग की ओर से रोप वे बनाने का प्रस्ताव वर्ष 2018 में दिव्य व भव्य कुंभ को लेकर तैयार कराया गया था। शासन से इसकी मंजूरी मिल गई थी। डीपीआर भी स्वीकृत हो गया था। त्रिवेणी पुष्प, सोमेश्वरनाथ घाट और फिर संगम के ऊपर से झूंसी के उल्टा किला तक रोप वे मार्ग का सर्वे हुआ था। झूंसी स्थित उल्टा किला के पास स्टेशन बनाने के लिए 0.342 हेक्टेयर व अरैल में त्रिवेणी पुष्प के पास 0.3888 हेक्टेयर शासकीय भूमि मिल चुकी थी। इसके बाद प्रोजेक्ट ठंडे बस्ते में चला गया।

अब महाकुंभ 2025 की तैयारी तेज हुई तो इस परियोजना की फाइल फिर निकलवाई गई। मंडलायुक्त ने शासन स्तर पर वार्ता कर प्रोजेक्ट के लिए पर्यटन विभाग को निर्देश जारी करते हुए नए सिरे से फाइल तैयार कराने को कहा है। लगभग 93 करोड़ के प्रोजेक्ट का निर्माण और इसका संचालन पीपीपी माडल पर करने का प्रस्ताव है। परियोजना प्रयागराज के लिए बड़ी सौगात मानी जा रही है।

कमिश्नर ने यह बताया

संगम पर रोप वे निर्माण महाकुंभ के मद्देनजर शासन की महत्वपूर्ण परियोजनाओं में से एक है। इसके निर्माण के लिए शीघ्र ही प्रक्रिया शुरू कराई जाएगी।

विजय विश्वास पंत, मंडलायुक्त

Edited By: Ankur Tripathi