प्रयागराज, जेएनएन। दीपावली का पर्व 27 अक्टूबर को है। ऐसे में इन दिनों हर किसी को घर पहुंचने की जल्दी है, क्योंकि सभी अपने परिवार के साथ पर्व मनाने को आतुर हैं। पहले से बुकिंग के चलते अधिकतर रेल गाडिय़ों में सीटें आरक्षित नहीं हो पा रही हैं। यात्रियों का रुख अब रोडवेज बसों की ओर हो रहा है। दीपावली पर रोडवेज ने अतिरिक्त बसों और उनके फेरे बढ़ाने का इंतजाम कर लिया है। उन बसों के भी संचालन कराने की तैयारी है जो कार्यशालाओं में मानक के अनुसार रिजर्व में रहती हैं। प्रयागराज के सिविल लाइंस और जीरो रोड से अभी 475 बसों का संचालन हो रहा है। आवश्यकता पडऩे पर इनके फेरे बढ़ाए जाएंगे।

बसों का पांच प्रतिशत बसें कार्यशालाओं में रिजर्व में रहती हैं

रोडवेज प्रयागराज 601 बसों का विभिन्न रूट पर संचालन करता है। अकेले सिविल लाइंस बस स्टेशन से करीब 325 और जीरो रोड से 150 बसों का संचालन होता है। कुल बसों का पांच प्रतिशत बसें कार्यशालाओं में रिजर्व में रहती हैं, जिनका उपयोग आकस्मिक स्थिति में होता है। दीपावली के अवसर पर यात्रियों की संख्या अधिक हो गई है। इससे 60 प्रतिशत बसें पूरी तरह से फुल चल रही हैं। अगले एक दो दिनों में यात्रियों की संख्या और बढऩे के आसार हैं। रोडवेज ने भीड़ बढऩे पर इन बसों के फेरे बढ़ाने की तैयारी की है। एक बस का मानक प्रत्येक दिन 350 किलोमीटर दूरी तय करने का है तो 125-150 किलोमीटर प्रतिदिन अधिक दूरी तय करने की तैयारी है।

चित्रकूट में दीपदान मेले के लिए भी बसों की संख्या बढ़ेगी

चित्रकूट में दीपदान मेले के लिए बसों की संख्या बढ़ाने के आदेश पहले ही हो चुके हैं। सिविल लाइंस स्टेशन के एआरएम सीबी राम ने बताया कि यात्री सुविधा को ध्यान में रखते हुए पुख्ता प्रबंध किए जा चुके हैं। भीड़ ज्यादा हुई तो रिजर्व की बसें और अपने परिक्षेत्र के अंतर्गत दूसरे जिलों के डिपो से भी बसें मंगाकर लगाई जा सकती हैं।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप