जासं, इलाहाबाद : कर्नलगंज थाना क्षेत्र के ओमगायत्री नगर मुहल्ले में नाले में बहने से बुधवार रात एक बच्चे की मौत हो गई थी, जबकि एक बच्चा लापता है। गायब बच्चा गुरुवार को भी नहीं मिला। फिर भी मौके पर प्रशासन का कोई अफसर नहीं गया। इससे नाराज लोगों ने मृत बच्चे का शव रखकर शाम को सलोरी में ईश्वर शरण डिग्री कालेज गेट के सामने चक्काजाम कर दिया। लोग मृतक के परिजनों को 10 लाख रुपये मुआवजा देने और प्रकरण की जांच कराने की मांग कर रहे थे। अफसरों के समझाने पर करीब दो घंटे बाद चक्काजाम समाप्त हुआ।

ओम गायत्री नगर के रहने वाले घनश्याम गुप्ता का बेटा अनिकेत, स्वर्गीय जय प्रकाश का बेटा शिखर बुधवार रात घनघोर बारिश के दौरान घर के पास विकास विद्यालय की दीवार के पास खड़े थे। वहीं पर दो अन्य बच्चे भी रुके थे। तभी विद्यालय की दीवार भरभराकर ढह गई। पानी का बहाव तेज होने से चारों बच्चे बहने लगे। दो बच्चों रवि और सुशांत को लोगों ने बचा लिया, लेकिन अनिकेत और शिखर बहते हुए विद्यालय के बगल के गहरे नाले में समा गए। करीब एक घंटे के रेस्क्यू आपरेशन के बाद अनिकेत का शव बरामद कर लिया गया था। जबकि शिखर का पता नहीं चल सका। पुलिस ने गुरुवार सुबह से फिर रेस्क्यू आपरेशन चलाया। जेसीबी लगाकर नाले की खोदाई भी कराई गई, लेकिन शिखर का पता नहीं चल सका। वहीं, पोस्टमार्टम के बाद अनिकेत का शव ले जाकर लोगों ने ईश्वर शरण डिग्री कालेज गेट के सामने चक्काजाम कर दिया। इसकी जानकारी होने पर एसडीएम सदर और सीओ कर्नलगंज पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। उन्होंने परिजनों और लोगों को समझाकर करीब दो घंटे बाद चक्काजाम खत्म कराया। एसडीएम ने आपदा के तहत चार लाख रुपये देने के लिए पासबुक की कॉपी परिजनों से मांगी। प्रकरण की जांच कराने का भी भरोसा दिया। सपा शहर उत्तरी विधानसभा अध्यक्ष रविंद्र यादव का कहना है कि विद्यालय की दीवार साल में तीन बार गिर चुकी है। कच्ची दीवार पर पक्की दीवार उठाकर स्लैब बनवा दिया गया है। इससे भविष्य में भी खतरा हो सकता है। समाज कल्याण विभाग के इस विद्यालय में करीब 100-150 बच्चे पढ़ते हैं।

Posted By: Jagran