प्रयागराज, जेएनएन। ऐसे करदाता सावधान हो जाएं, जिन्हें टीडीएस और टीसीएस का तिमाही रिटर्न दाखिल करना है। सरकारी विभागों को छोड़ अन्य करदाताओं को रिटर्न दाखिल करने के लिए मात्र नौ दिन ही शेष बचे हैं। इस अवधि में रिटर्न फाइल न करने पर फिर प्रतिदिन दो सौ रुपये की दर से शुल्क जमा करना पड़ेगा। सरकारी विभागों के लिए यह अवधि 30 जनवरी निर्धारित की गई है।

टीडीएस और टीसीएस का तिमाही रिटर्न दाखिल करने को दो तिथि है निर्धारित

दिसंबर माह में खत्म हुए त्रैमास (तिमाही) के लिए सरकार ने दो तिथियां (15 और 30 जनवरी) तय की हैं। 30 जनवरी सरकारी विभागों के लिए है, जबकि 15 अन्य करदाताओं के लिए है। इसके लिए आयकर विभाग ने फार्म 24 क्यू, 26 क्यू और 27 ईक्यू निर्धारित किया है। यह रिटर्न फार्म ऑनलाइन भरना है। खास यह कि रिटर्न फाइल करते समय करदाताओं द्वारा सही पैन का उल्लेख न करने पर उन्हें टैक्स की क्रेडिट मिलने में भी दिक्कत होगी। उक्त तय तिथियों के अंदर रिटर्न फाइल न करने पर विभागों एवं अन्य करदाताओं को प्रतिदिन दो सौ रुपये शुल्क जमा करना पड़ेगा।

जीएसटी का टीडीएस रिटर्न भरने की अंतिम तिथि 10 जनवरी है

जो भी सरकारी विभाग अथवा जूडिशियरी ढाई लाख रुपये से ज्यादा ठेकेदारों को भुगतान करते हैं। उन्हें दो फीसद वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) का टीडीएस काटकर 10 जनवरी के अंदर रिटर्न फाइल करना अनिवार्य है। इसके लिए जीएसटीआर-8 निर्धारित किया गया है। कर एवं वित्त सलाहकार डॉ. पवन जायसवाल बताते हैं कि इस दायरे में केंद्र और राज्य सरकार के सभी विभाग, न्यायालय, हाईकोर्ट भी आते हैं। 

सबका विश्वास योजना की तिथि बढ़ी

सबका विश्वास योजना की तिथि बढ़ाकर 15 जनवरी कर दी गई। पहले इसकी तिथि 31 दिसंबर तय थी। प्रयागराज में इस योजना के तहत करीब छह सौ लोगों ने लाभ लिया था।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस