प्रयागराज, जेएनएन। कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैलने पर लॉकडाउन हुआ। ऐसे में रेलवे ने 22 मार्च से अपनी सभी सवारी गाड़ियों को निरस्त कर दिया था। साथ ही सभी काउंटर को बंद कर दिया था। इसके कारण लोग निरस्त ट्रेनों का रिफंड नहीं ले पाए थे। रेलवे ने आज यानी सोमवार से रिफंड की सुविधा शुरू की है। पैसेंजर रिजर्वेशन सिस्टम (पीआरएस) काउंटर पर रिफंड मिलेगा। 31 मई तक रेलवे की सभी सवारी गाड़ियां निरस्त चल रही हैं। केवल 15 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें ही चल रही हैं। एक जून से 100 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें चलेंगी। इसके रिजर्वेशन के लिए रेलवे ने पीआरएस काउंटर को खोला है।

पहले दिन पीआरएस काउंटर पर उपलब्ध पैसा ही होगा रिफंड

स्पेशल ट्रेनों का रिजर्वेशन काउंटर से कराने के लिए रेलवे संगम नगरी में प्रयागराज जंक्शन, प्रयागराज छिवकी और प्रयाग जंक्शन पर काउंटर खोला गया है। आज से लोगों को निरस्त ट्रेनों का रिफंड भी मिलेने लगा है। पहले दिन आज पीआरएस काउंटर से जो पैसा इकटठा होगा, वही पैसा रिफंड के रूप में दिया जा रहा है।

आकड़ों पर डालें एक नजर

-03 स्टेशनों पर सोमवार को संगम नगरी में मिलेगा रिफंड

-22 मार्च से निरस्त चल रही हैं रेलवे की सभी सवारी गाड़ियां

-15 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें रेलवे चला रहा है

-03 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें रुक रही हैं प्रयागराज जंक्शन पर

-01 जून से चलेंगी और 100 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें

-120 सवारी गाड़ियां आम दिनों में गुजरती हैं प्रयागराज जंक्शन पर

-31 मई तक निरस्त चल रही हैं सभी सवारी गाड़ियां

-12 मई से रेलवे चला रहा है स्पेशल ट्रेनें

-04 पीआरएस काउंटर आम दिनों में खुलते हैं प्रयागराज जंक्शन पर।

कल से अलग व्‍यवस्‍था होगी

कल यानी मंगलवार 26 मई से रिफंड का पैसा अलग से देने की व्यवस्था की जाएगी। जो लोग काउंटर पर आकर रिफंड लेंगे, उनको पूरा पैसा मिलेगा।

प्रयागराज मंडल के पीआरओ बोले

प्रयागराज मंडल के जनसंपर्क अधिकारी सुनील कुमार गुप्ता कहते हैं कि सोमवार से लोग रिजर्वेशन काउंटर पर टिकट बुक कराने के साथ निरस्त ट्रेनों का पैसा रिफंड भी ले सकेंगे। 22 मार्च से रेलवे की सवारी गाड़ियां निरस्त चल रही हैं तो रिफंड लेने वालों की संख्या भी अधिक है। लोग धैर्य रखें, सभी लोगों को पूरा रिफंड मिलेगा। हालांकि इसमें थोड़ा समय लगेगा।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस