प्रयागराज, जागरण संवाददाता। संगम नगरी में रविवार की सुबह आसमान में बादल तो हैं लेकिन घने न होने के कारण सूर्य और बादलों में लुकाछिपी का खेल चल रहा है। शनिवार की दोपहर बाद व रात में हल्‍की बारिश से कुछ देर के लिए मौसम ठीक रहा लेकिन उसके बाद उमस भरी गर्मी ने परेशान करना शुरू कर दिया था। आज भी उमस है। मौसम विभाग का अनुमान है कि दो दिनों में कभी भी बारिश हो सकती है।

रात में भी हुई हल्‍की बारिश, कुछ देर के लिए राहत

शनिवार को दिन भर मौसम में उतार-चढ़ाव होता रहा। दोपहर में काले बादलों ने आसमान की घेराबंदी कर दी। हालांकि तेज हवा ने बादलों को बरसने से रोक दिया। शाम तक खींचतान चलती रही। पांच बजे के बाद बादलों ने अपनी फुहारों से लोगों को उमस भरी गर्मी से कुछ देर के लिए राहत दे दी। रात में भी कहीं हल्की बारिश हुई।

कभी आसमान में बादल तो कभी तेज धूप

पिछले तीन दिन से बादलों की आंख मिचौली चल रही है। बादलों के बार-बार दस्तक देने पर उमस लोगों को और बेचैन करने लगती है। आसमान में घने बादल छा जाते हैं लेकिन कुछ ही देर के भीतर ही मौसम साफ हो जाता है। उसके बाद फिर बादल निकल जाते हैं और सूरज अपने रौब में दिखाई देता है।

आज का अधिकतम व न्‍यूनतम तापमान

मौसम विभाग के मुताबिक शनिवार को पांच मिलीमीटर बारिश हुई। रविवार को अधिकतम तापमान 34.5 डिग्री सेल्सियस व न्‍यूनतम तापमान 26 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। शुक्रवार को अधिकतम तापमान 33.8 डिग्री सेल्सियस था, जो शनिवार को घटकर 33.4 डिग्री हो गया। शुक्रवार को न्यूनतम तापमान 26.2 डिग्री था। शनिवार को बढ़कर 27.6 डिग्री पहुंच गया। वायु में अधिकतम आर्द्रता 96 प्रतिशत रही। न्यूनतम 71 प्रतिशत रही।

जानें, क्‍या कहते हैं मौसम विज्ञानी

इलाहाबाद विश्वविद्यालय के मौसम विज्ञानी डा. शैलेंद्र राय ने प्रयागराज के मौसम का पूर्वानुमान बताया। उनका कहना है कि अगले दो दिन बारिश होने की पूरी संभावना है। कहा कि बारिश अचानक हो सकती है फिर मौसम खुल जाएगा।

Edited By: Brijesh Srivastava