प्रयागराज, जागरण संवाददाता। अहमदाबाद जेल में बंद माफिया अतीक अहमद के गैंग से जुड़े कई और सदस्यों पर कार्रवाई होगी। इसकी तैयारी पुलिस ने शुरू कर दी है। आपराधिक प्रवृत्ति के सदस्यों की सूची बनाई जा रही है और क्रिमिनल रिकार्ड के आधार पर उनके खिलाफ गैंगस्टर का मुकदमा कायम होगा। ताकि उनकी अवैध रूप से अर्जित चल व अचल संपत्तियों को कुर्क किया जा सके।

आपराधिक इतिहास के आधार पर लगेगा गैंगस्टर

पुलिस का कहना है कि जांच के दौरान यह तथ्य प्रकाश में आया है कि अतीक गैंग के कई सदस्य धूमनगंज, करेली और कैंट थाना क्षेत्र में अवैध रूप से जमीन की खरीद-फरोख्त कर रहे हैं। सरकारी और गरीबों की जमीन पर दबंगई के साथ कब्जा भी कर रहे हैं। इतना ही नहीं, कुछ ऐसे भी शख्स हैं, जो खुद को माफिया का विरोधी बताते हुए गलत फायदा उठा रहे हैं। कभी अतीक के बेहद करीबी रहे और बाद में गैंग से अलग होने वाला एक व्यक्ति धूमनगंज से लेकर पूरामुफ्ती थाना क्षेत्र में कई बीघा सरकारी जमीन पर कब्जा कर चुका है। इसी तरह माफिया को अपना दुश्मन बताने वाला एक प्रापर्टी डीलर करेली इलाके में सरकारी जमीनों पर कब्जा कर रहा है। कैंट के बेली और गंगा कछार इलाके में भी ऐसा ही कुछ माफिया के गुर्गे कर रहे हैं। चौंकाने वाली बात यह है कि कुछ के खिलाफ शिकायत होने के बावजूद राजस्व और दूसरे विभाग कार्रवाई नहीं कर रहे हैं। अब उनकी रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को भेजी जाएगी। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि अब तक करीब आठ ऐसे व्यक्तियों की पहचान कर ली गई है, जो माफिया से प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से जुड़े हैं। अब उनके खिलाफ अलग-अलग थानों में दर्ज आपराधिक मुकदमों की जानकारी जुटाई जा रही है। जल्द ही इनके खिलाफ गैंगस्टर का मुकदमा दर्ज किया जाएगा। फिर उसके बार गैंगस्टर एक्ट की धारा 14 (1) के तहत जब्तीकरण की कार्रवाई की जाएगी।

एसपी सिटी का है कहना

अतीक अहमद गैंग के कुछ सदस्यों और कार्रवाई से बचे रह गए माफिया के बारे में सभी तरह की जानकारी एकत्रित की जा रही है। सरकारी जमीन पर भी कब्जा करने की शिकायत मिली है। सभी के खिलाफ कठोर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

- दिनेश कुमार सिंह, एसपी सिटी

Edited By: Ankur Tripathi