प्रयागराज, जागरण संवाददाता। एयरफोर्स मनौरी में दो दिन पहले पकड़े गए संदिग्ध युवक से सुरक्षा एजेंसी से जुड़े अधिकारियों ने लंबी पूछताछ की है। उसके मोबाइल, वाट्सएप और फेसबुक एकाउंट को भी खंगाला गया। उसके मोबाइल फोन की काल डिटेल रिपोर्ट (सीडीआर) भी निकलवाई जा रही है। प्रारंभिक जांच में उसका पाकिस्तान से किसी तरह के कनेक्शन होने की बात सामने नहीं आई है। पाकिस्तान के नंबर से वाट्सएप पर उसे अश्लील वीडियो भेजा गया था। इस आधार पर हनी ट्रैप के एंगल पर भी छानबीन चल रही है।

मोबाइल व इंटरनेट मीडिया पर बने एकाउंट की छानबीन

दो दिन पहले एयरफोर्स मनौरी स्टेशन से पूरामुफ्ती पुलिस द्वारा हिरासत में लिए गए शैलेंद्र सिंह से इंटेलिजेंस ब्यूरो, मिलिट्री इंटेलिजेंस, स्थानीय अभिसूचना ईकाई व दूसरी सुरक्षा एजेंसी से जुड़े अधिकारियों ने अलग-अलग चरण में लंबी पूछताछ की। उसके दोस्तों, परिवार की पृष्ठभूमि सहित कई बिंदुओं पर जानकारी ली गई। इसके बाद मोबाइल व इंटरनेट मीडिया पर बने एकाउंट की छानबीन की गई। कहा जा रहा है कि अभी तक की जांच में पता चला है कि शैलेंद्र को एक अश्लील वीडियो भेजा गया था। अब भेजने वाले के मकसद के आधार पर शैलेंद्र की भूमिका को संदिग्ध मानते हुए तफ्तीश की जा रही है।

रविवार को एयरफोर्स परिसर से शैलेंद्र को पकड़ा गया था। स्टेशन के सुरक्षा अधिकारी को पता चला कि शैलेंद्र के पिता भेदराज एयरफोर्स में फायरमैन के पद पर कार्यरत हैं। मगर उसके मोबाइल में पाकिस्तान का नंबर होने से चौंक पड़े। फिर पूछताछ करने के बाद पुलिस उसे पुलिस के हवाले कर दिया गया। थानाध्यक्ष पूरामुफ्ती उपेंद्र प्रताप सिंह का कहना है कि पूरी तरह से जांच होने के बाद ही आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Ankur Tripathi