प्रयागराज, जेएनएन। भारत सरकार की ओर से स्वच्छता सर्वेक्षण के तहत कराए गए कूड़ा निस्तारण में प्रयागराज को नंबर एक चुना गया है। आजादी का अमृत महोत्सव के तहत केंद्र सरकार की ओर से सर्वे कराया गया था। कूड़ा निस्तारण में किस शहर के बेहतर इंतजाम हैं, इसके लिए 1850 शहरों का सर्वे किया था, इसमें प्रयागराज, अलीगढ़ और मेरठ की रैंकिंग एक समान रही।

30 सितंबर को दिल्ली में सम्मानित किए जाएंगे नगर निगम अधिकारी

मूल्यांकन मानकों के आधार पर नई दिल्ली में तालकटोरा स्टेडियम में 30 सितंबर को नगर निगम के अधिकारियों को सम्मानित किया जाएगा। कार्यक्रम में शामिल होने के लिए मंत्रालय की ओर से आमंत्रण पत्र आ चुका है।

सम्मान समारोह के दौरान स्वच्छ शहर संवाद एवं प्रौद्योगिकी प्रदर्शनी के अंतर्गत इंडियन स्वच्छता लीग में (मिलियन प्लस शहरों की श्रेणी में) गार्बेज फ्री सिटी उद्देश्य में प्रथम स्थान पर प्रयागराज का चयन किया गया है।

रोज छह सौ टन निकलता है प्रयागराज में कचरा

प्रयागराज शहर में प्रतिदिन 600 टन कूड़ा निकलता है। इन कूड़ों से खाद, कोयला, डीजल के अलावा मलबा से इंटरलाकिंग का ईंट आदि तैयार किया जाता है। कूड़ा का उपयोग विभिन्न रूपों में किए जाने के चलते यह उपलब्धि स्मार्ट सिटी प्रयागराज को मिली है।

63 एकड़ में है कूड़ा निस्तारण का प्लांट

स्मार्ट सिटी को स्वच्छ बनाने के लिए नगर निगम की ओर से बसवार में 63 एकड़ में कूड़ा निस्तारण प्लांट लगाय गया है। यहां पर प्रतिदिन 800 मीट्रिक टन कूड़ा निस्तारित करने की व्यवस्था है। यहीं पर खाद,डीजल, कोयला आदि बनाया जाता है।

महापौर का है कहना

कूड़ा निस्तारण में प्रयागराज प्रथम स्थान मिला है। यह उपलब्धि शहरवासियों के सहयोग से ही संभव हुआ है। इसके लिए नगर के सभी लोग बधाई के पात्र हैं। सही के सहयोग से बेहतर कूड़ा निस्तारण किया जा रहा है। प्रयागराज की रैंकिंग स्मार्ट सिटी में पहले नंबर पर हो इसका प्रयास लगातार किया जा रहा है। लोगों का भी बेहतर सहयोग मिल रहा है।

अभिलाषा गुप्ता, महापौर प्रयागराज

Edited By: Ankur Tripathi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट