प्रयागराज : पुराने शहर का चौक इलाका और हजारों युवाओं की भीड़। डीजे पर बजता होली का मधुर गीत और उसकी धुन पर थिरकते लोग। पानी की बौछार के बीच संगीत से कदमताल करते युवा अचानक जोश में आ जाते हैं और फिर शर्ट अथवा टीशर्ट उतारकर आसमान की ओर फेंकने लगते हैं। युवाओं का चेहरा ही नहीं बल्कि पूरे शरीर पर रंग और गुलाल नजर आता रहा। रंगों के इस सराबोर में कुछ लोग दोस्तों को भी नहीं पहचान पा रहे थे। अलहदा, मदमस्त और रंगत भरी प्रयाग की होली ने इस बार वर्चुअल दुनिया में धमाकेदार एंट्री मारी है।

पहली बार दूसरे इलाकों में दिखी लोकनाथ जैसी रंगत

यूं तो लोकनाथ की होली काफी मशहूर है, लेकिन पहली बार वैसी होली दूसरे स्थानों पर भी देखने को मिली। शाहगंज, नखास कोहना, विवेकानंद मार्ग और जीरो रोड पर भी लोकनाथ जैसी रंगत नजर आई। युवाओं की बढ़ती भीड़ ने लोकनाथ की होली का दायरा भी बढ़ा दिया।

...कोतवाली थाने तक होलियारों की भीड़ पहुंच गई है

रानीमंडी निवासी आशुतोष कुमार ने फेसबुक पर वीडियो शेयर करते हुए लिखा कि कोतवाली थाने तक होलियारों की भीड़ पहुंच गई है। यह रंगोत्सव के महत्व को बतलाता है। मालवीय नगर निवासी घनश्याम चौरसिया ने लोकनाथ और जानसेनगंज की होली की तस्वीर फेसबुक पर अपलोड करते हुए लिखा-गजब। काश! ऐसी रंगत हर बार देखने को मिले। राजरूपपुर के शिवेंद्र सिंह ने वाट्सएप पर होली की शानदार तस्वीर को शेयर करते हुए हुलियारों का हाल दिखाया है। ऐसे और भी कई युवा हैं, जिन्होंने सोशल मीडिया पर होली के जश्न को साझा किया है। वीडियो और फोटो को काफी पसंद भी किया जा रहा है।

Posted By: Brijesh Srivastava