प्रयागराज, जागरण संवाददाता। संदिग्ध दशा में मंगलवार रात 45 वर्षीय केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के जवान पंकज उर्फ प्रशांत त्रिपाठी के सिर में गोली लग गई। जवान की हालत गंभीर बनी है। लाइसेंसी पिस्टल से गोली कब और किन परिस्थितियों में लगी यह साफ नहीं हो सका है। घटनास्थल से पुलिस ने खोखा और पिस्टल बरामद किया है। कैंट पुलिस पंकज के कुछ साथियों को पकड़कर पूछताछ कर रही है। 

पंकज मूलरूप से प्रतापगढ़ के बाघराय थाना क्षेत्र स्थित चकमढ़ गांव के निवासी हैं। उनकी तैनाती झारखंड में है, लेकिन इन दिनों अवकाश पर घर आए हैं। कई साल पहले उन्होंने कैंट थाना क्षेत्र के गंगानगर मोहल्ले में मकान बनवाया जहां पत्नी व बच्चों के साथ रहते हैं। भाई रिंकू व प्रभात भी साथ में रहते हैं। 

दोस्त के घर पार्टी कर रहे थे पंकज

बताया गया है कि मंगलवार रात पंकज मोहल्ले में रहने वाले अपने दोस्त माेनू के घर गए थे। वहां मोनू, विवेक समेत अन्य के साथ पार्टी कर रहे थे। इसी दौरान पिस्टल से गोली चली और पंकज की कनपटी में लग गई। इससे वहां अफरातफरी मच गई। साथियों ने पुलिस को सूचना नहीं दी और जख्मी पंकज को आशा अस्पताल ले गए। 

गोली कैसे लगी यह स्पष्ट नहीं

डाक्टर से जवान को गोली लगने की सूचना मिली तो सीओ सिविल लाइंस एसएन सिंह, कैंट इंस्पेक्टर फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। पूछताछ में कुछ लोगों ने बताया कि पिस्टल दिखाते वक्त गोली चली थी, जबकि कुछ का कहना था कि पंकज ने खुद को गोली मारी है। ऐसे में गोली कैसे लगी यह स्पष्ट नहीं है। 

सीओ का कहना है कि पंकज दोस्तों के साथ शराब पी रहे थे, तभी घटना हुई है। पिस्टल का लाइसेंस जवान के नाम पर ही है। साथियों ने पिस्टल पंकज की पत्नी काे दिया था, जिसे बरामद कर लिया गया है। सभी बिंदुओं पर जांच की जा रही है।

Edited By: Shivam Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट