प्रयागराज,जेएनएन। मुंडेरा मंडी में लगने वाली भीड़ को तितर-बितर करने के लिए आढ़तियों और फुटकर दुकानदारों को अलग करने के निर्देश एडीएम सिटी अशोक कुमार कनौजिया ने दिए थे। लेकिन मंडी में फैली गंदगी के कारण फुटकर दुकानदार गुरुवार को भी आढ़तियों से अलग नहीं हो सके। इसकी वजह से मंडी में फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं हो पा रहा है। मंडी में सफाई न होने की वजह ठेकेदार की लापरवाही बताई जा रही है।

फुटकर और थोक विक्रेताओं को अलग करने की थी योजना

कोरोना कर्फ्यू लागू होने के बाद से ही पुलिस द्वारा मंडी के किसानों और आढ़तियों पर सख्ती की जा रही थी। पुलिस द्वारा सुबह 7:00 बजे से ही मंडी बंद कराना शुरू कर दिया जाता था। जिससे किसानों और आढ़तियों की सब्जियां नहीं बिक पाती थी। एसीएम सेकंड के हस्तक्षेप से अब मंडी दिन में 11:00 बजे तक खुलने लगी और पुलिस का रुख भी नरम हो गया। लेकिन भीड़ कम करने के मद्देनजर आढ़तियों और  दुकानदारों को अलग करने के लिए एडीएम सिटी के निर्देश का पालन नहीं हो सका।

शारीरिक दूरी का नहीं हो पा रहा है पालन

इसकी वजह से मंडी में लगने वाली भीड़ बरकरार है। मुंडेरा सब्जी एवं फल व्यापार मंडल के अध्यक्ष सतीश कुशवाहा का कहना है कि फुटकर दुकानदारों को मंडी के जिस तरफ लगवाया जाना था उस तरफ बहुत गंदगी है। ठेकेदार द्वारा गंदगी की सफाई न करा पाने के कारण दुकानदार अलग नहीं हो सके हैं। हालांकि पहले की तुलना में सब्जियों की बिक्री अब अच्छी हो रही है। लेकिन कीमतें यथावत हैं।

Edited By: Rajneesh Mishra