प्रतापगढ़, प्रवीन कुमार यादव। ग्रामीण अंचल के ऐसे लोगों के लिए एक राहत भरी खबर है, जिनका खाता गांव के ही शाखा डाकघर में है। अब उनको चेकबुक व एटीएम के लिए प्रधान डाकघर नहीं जाना पड़ेगा। इसकी सुविधा लेने के लिए पहले आवेदन करना होगा। आवेदन के सप्ताह भर के अंदर पोस्टमैन घर पहुंचकर ग्राहकों को कार्ड व चेकबुक देगा। पहले इसके लिए प्रधान डाकघर व उप डाकघरों का चक्कर लगाना पड़ता था।

डाकघरों को हाइटेक बनाने की कवायद

प्रतागढ़ जिले में पांच तहसील है। इसके अंतर्गत सदर, लालगंज, पट्टी, रानीगंज व कुंडा आती है। वहीं जिले में 17 ब्लाक हैं। इसके तहत एक हजार 193 ग्राम पंचायतें हैं। जिले भर में 319 शाखा डाकघर है। डिजिटल दौर में यह शाखा डाकघर अपनी पहचान मिटा चुके हैं। इन डाकघरों को हाइटेक बनाने की कवायद चल रही है। अब गांव के लोग शाखा डाकघर में आवेदन करके चेकबुक व एटीएम कार्ड का लाभ ले सकेंगे। इसके लिए उनको कहीं जाना नहीं पड़ेगा। केवल गांव के शाखा डाकघर में आवेदन करना होगा। पहले यह व्यवस्था नहीं थी। आवेदन करने के लिए प्रधान डाकघर में जाना पड़ता था। आवेदन करने के कई दिन बाद चेकबुक व कार्ड मिलता था। डाक विभाग की इस पहल से खाताधारकों को काफी राहत मिलेगी। घर बैठे ही इस सुविधा का फायदा मिल सकेगा। इससे उनको काफी सहूलियत मिलेगी।

इंटरनेट बैंकिंग का मिलेगा लाभ

अब डाक विभाग के ग्राहकों को घर बैठे इंटरनेट बैंकिंग की सुविधा मिल सकेगी। इसके लिए उनको कोई शुल्क नहीं देना होगा। खाते में जमा पैसा, निकासी, बैलेंस आदि की भी जानकारी इंटरनेट बैंकिंग के जरिए मिल सकेगी। अभी तक ग्राहकों को यह सुविधा नहीं मिलती थी। इसके लिए उप डाकघरों व प्रधान डाकघर आना पड़ता था। अब इसके लिए चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा।

ग्राहकों को अब घर बैठे चेकबुक व एटीएम कार्ड मिल सकेगा। गांव के शाखा डाकघर में आवेदन करने के बाद पोस्टमैन सीधे घर पर ले जाकर देंगे। इससे ग्राहकों को काफी राहत मिलेगी।

- विकास कुमार मिश्रा, सीनियर पोस्ट मास्टर, प्रधान डाकघर

बोले ग्रामीण, शासन की पहल से मिलेगी राहत

शासन ने शाखा डाकघरों को जो हाइटेक बनाने का निर्णय लिया है, यह सुनकर लोग खुश हैं। वह सबसे अधिक इस बात को लेकर खुश है कि अब शहर व बाबूगंज बाजार जाने के बजाय गांव के ही शाखा डाकघर में ही सारी सुविधाएं मिल सकेंगी। खास बात यह है कि पोस्टमैन के माध्यम से गांव के लोग 10 हजार रुपये तक निकासी घर बैठे करा सकेंगे। इसके लिए उनको शहर व उप डाकघर में नहीं जाना पड़ेगा।

सुनने के बाद बड़ी खुशी हो रही है कि अब गांव के शाखा डाकघर से ही चेकबुक व एटीएम मिलेगा। इससे काफी फायदा होगा।

- उदय प्रकाश, सराय दली

शाखा डाकघर में सुविधा न होने से हम लोग यहां लेनदेन करने से कतराते थे। सुविधा मिलने से अब यहीं पर चेकबुक व एटीएम बनवाएंगे।

- प्रमोद कुमार ओझा, गोबरी

पहले शाखा डाकघर में ही लेनदेन करते थे। बाद में सारी व्यवस्थाएं बंद हो गईं। अगर यहां सारी सुविधाएं मिलेंगी तो हम लोग यहीं पर ट्रांजक्शन करेंगे।

- बबलू यादव, कठुआपुर

शाखा डाकघर को हाइटेक किया जा रहा है। यह बड़ी खुशी की बात है। अब शहर जाने के बजाय हम लोग गांव के ही डाकघर में खाता खोलवाएंगे।

- जयराम वर्मा, शिवपुर

Edited By: Ankur Tripathi