प्रयागराज, जेएनएन। अशासकीय सहायताप्राप्त (एडेड) डिग्री कॉलेजों में असिस्टेंट प्रोफेसर पद की नई भर्ती में गरीब सवर्णों को भी आरक्षण मिलेगा। शासन ने इसके मद्देनजर निर्देश जारी कर दिया है। उच्च शिक्षा निदेशालय नया अधियाचन उसी अनुरूप तैयार करवा रहा है। इससे गरीब सवर्णों को विज्ञापन संख्या 49 के तहत होने वाली भर्ती में लाभ मिलेगा। मौजूदा समय चल रही विज्ञापन संख्या 47 व प्राचार्यों की विज्ञापन संख्या 48 के तहत होने वाली भर्ती में आरक्षण का नया नियम लागू नहीं होगा। 

उच्च शिक्षा निदेशालय एडेड डिग्री कॉलेजों में असिस्टेंट प्रोफेसरों के खाली पदों का का ब्योरा एकत्र करके उसमें आरक्षण तय करके भर्ती का प्रस्ताव भेजता है। फिर उत्तर प्रदेश उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग विज्ञापन निकालकर भर्ती प्रक्रिया पूरी करता है। आयोग को जून 2019 में विज्ञापन संख्या 49 का विज्ञापन जारी करना था, लेकिन आरक्षण की स्थिति स्पष्ट न होने से वह जारी नहीं हुआ। पहले हर कॉलेज में विषय के अनुरूप आरक्षण देने का प्रावधान था। फिर अगस्त में उसे बदलकर संस्था स्तर पर आरक्षण देने का नियम बनाया गया।

निदेशालय ने नए नियम के तहत 2500 पदों के लिए अधियाचन तैयार कराना शुरू कर दिया। यह प्रक्रिया लगभग पूरी होने वाली थी कि शासन ने नई भर्ती में गरीब सवर्णों को 10 प्रतिशत आरक्षण देने का फरमान जारी कर दिया। इससे अधियाचन की प्रक्रिया नए सिरे से शुरू की गई है। उच्च शिक्षा निदेशक डॉ. वंदना शर्मा ने बताया कि गरीब सवर्णों को आरक्षण देने की प्रक्रिया विज्ञापन संख्या 49 के तहत होने वाली असिस्टेंट प्रोफेसर पद की भर्ती से शुरू होगी। शासन ने उसके मद्देनजर निर्देश जारी कर दिया है। नया भर्ती प्रस्ताव उसी के अनुरूप तैयार कराया जा रहा है।

Posted By: Umesh Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस