प्रयागराज, जागरण संवाददाता। प्रयागराज में यमुनापार के नारीबारी स्थित सुरवल साहनी धान क्रय केंद्र पर धान की खरीद न होने पर आक्रोशित किसान कलेक्ट्रेट पर धरना देने के लिए मंगलवार दोपहर दर्जनों ट्रैक्टर के साथ रवाना हुए। हालांकि किसानों को सुरवल साहनी गांव के पास ही पुलिस ने रोक लिया। इस दौरान किसानों और पुलिसकर्मियों में नोकझोंक भी हुई। किसानों ने जबरन रोकने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। सूचना पाकर एसडीएम बारा समेत कई अधिकारी मौके पर पहुंचे। समस्या के समाधान के लिए अधिकारी किसानों से बातचीत कर रहे हैं। उन्‍हें समझाने का प्रयास किया जा रहा है।

केंद्र पर धान खरीद न होने से किसानों में आक्रोश, दे रहे थे धरना

नारीबारी के सुरवल साहनी धान क्रय केंद्र पर धान की खरीद काफी दिनों से नहीं हो रही है। भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष अनुज सिंह के नेतृत्व में किसान भी कई दिनों से यहां धरने पर बैठे थे। सोमवार को बैठक कर किसानों ने निर्णय लिया कि मंगलवार को वह बारिश से भीगे हुए धान को ट्रैक्टर पर लादकर कलेक्ट्रेट पहुंचेंगे और धरना देंगे।

किसानों का आरोप, शांतिपूर्ण धरना देने जा रहे थे, पुलिस ने जबरन रोका

मंगलवार दोपहर जैसे ही किसान ट्रैक्टर लेकर वहां से रवाना हुए। हालांकि इसकी सूचना मिलने पर पुलिस सक्रिय हो गई और कुछ ही दूर चलने पर पुलिस ने किसानों को रोक लिया। इसे लेकर किसानों और पुलिसकर्मियों के बीच नोकझोंक भी हुई। किसानों ने आरोप लगाया कि वह शांतिपूर्वक कलेक्ट्रेट पर धरना देने जा रहे थे लेकिन पुलिस ने जबरन रास्ता रोक लिया।

बोले, भारतीय किसान यूनियन के जिला अध्‍यक्ष

भारतीय किसान यूनियन के जिला अध्यक्ष अनुज सिंह का कहना है कि धान की खरीद नहीं होने के कारण किसान परेशान हैं। किसानों की आवाज पर ध्‍यान नहीं दिया जा रहा है। इसके बाद भी कोई अधिकारी कुछ सुनने को तैयार नहीं हुआ तो कलेक्ट्रेट पर धरने का निर्णय लिया गया था।

Edited By: Brijesh Srivastava