प्रयागराज, जेएनएन। एटीएम काटकर 11.51 लाख रुपये उड़ाने वाले चोरों की संदिग्ध कार में बाइक की नंबर प्लेट लगी थी। उसका रजिस्ट्रेशन किसी रवीश कुमार के नाम पर है। क्राइम ब्रांच अब उसकी तलाश में जुट गई है।

 यूनियन बैंक व एजीएस कंपनी के कर्मियों से पूछताछ

कर्नलगंज पुलिस ने यूनियन बैंक व एजीएस कंपनी के कई कर्मचारियों से भी पूछताछ की। इस दौरान पता चला कि बैंक के मुंबई स्थित कार्यालय से एटीएम का कनेक्शन नहीं था। इस कारण घटना की जानकारी किसी को नहीं हो सकी। पूछताछ में कुछ और भी जानकारी मिली है, जिससे पुलिस का संदेह कुछ बैंक कर्मचारियों पर गहरा गया है। दावा किया जा रहा है कि बैंक अथवा कंपनी का कोई कर्मचारी चोरों को गोपनीय जानकारी देता था। ऐसे में अब उन संदिग्ध कर्मचारियों के मोबाइल की कॉल डिटेल रिपोर्ट निकलवाई जा रही है। पुलिस और क्राइम ब्रांच ने कई स्थानों पर छापेमारी करते हुए कई संदिग्ध चोरों को पूछताछ के लिए उठा लिया। 

गैस कटर से एटीएम काटकर साढ़े 11 लाख रुपये उड़ा दिए थे

कर्नलगंज थाना क्षेत्र के ओम गायत्री नगर में संगम चौराहा के पास आरआर गुप्ता नामक व्यक्ति रहते हैं। उनके मकान के भूतल पर यूनियन बैंक का एटीएम है। एटीएम में पैसा डालने व देखरेख का काम एडवांस ग्राफिक सिस्टम (एजीएस) कंपनी के पास है। गोविंदपुर निवासी अल्प नारायण तिवारी को एटीएम बूथ के अंदर सफाई करने और शटर खोलने व बंद करने के लिए रखा गया है। मंगलवार रात वहां पहुंचे शातिर चोरों ने गैस कटर से एटीएम काटकर साढ़े 11 लाख रुपये उड़ा दिए थे। घटना के बाद एजीएस के फील्ड ऑफीसर राजदेव सरोज ने रिपोर्ट दर्ज कराई है। 

बोले इंस्पेक्टर कर्नलगंज 

इंस्पेक्टर कर्नलगंज अनूप सिंह का कहना है कि कुछ सुराग मिले हैं, जिसकी सच्चाई का पता लगाया जा रहा है। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर संदिग्ध चोरों की तलाश की जा रही है। जल्द ही उनकी पहचान कर गिरफ्तार कर लिया जाएगा। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस