प्रयागराज, जेएनएन। होलागढ़ थाना क्षेत्र के बरईहरख के शुकुल का पुरा गांव में शुक्रवार को हुई सामूहिक हत्या के आरोपितों को पकड़ने के लिए पुलिस प्रयासरत है। मारे गए विमलेश के गायब मोबाइल पर होमगार्ड सुरेंद्र यादव के 13 वर्षीय बेटे ने बात की थी। शुक्रवार सुबह जब सबसे बड़ी बेटी सोनम को घटना की जानकारी हुई तो उसने करीब नौ बजे अपने पिता विमलेश के मोबाइल पर कॉल किया। घंटी बजने के बाद होमगार्ड के बेटे ने फोन उठाकर बात की और अपना नाम भी बताया। होलागढ़ कांड की तफ्तीश में जुटी पुलिस को यह नई जानकारी मिली है।

होमगार्ड का बेटा कई घंटे बाद मिला

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि शनिवार को सुरेंद्र के घर पर तीन बार छानबीन की गई, लेकिन उसका बेटा कई घंटे बाद मिला। पूछताछ में उसने बताया कि मोबाइल उसे सड़क किनारे मिला था। जब वह जान गया कि मोबाइल विमलेश का है तो उसे दूर ले जाकर फेंक दिया। हालांकि वह सच बोल रहा है या झूठ। यह साफ नहीं हो सका है। फेंका गया मोबाइल भी अब तक बरामद नहीं हो सका है। सच्चाई का पता लगाने के लिए पुलिस होमगार्ड, उसकी पत्नी, बेटी व बेटे को थाने में लाकर पूछताछ कर रही है।

पुलिस का दावा कि वारदात में स्थानीय युवकों का ही हाथ

वहीं, अब तक मिले सुराग के आधार पर पुलिस दावा कर रही है कि सनसनीखेज वारदात में स्थानीय युवकों का ही हाथ है। वजह विमलेश के बेटे प्रिंस और बेटियों के इर्द-गिर्द घूम रही है। ऐसे में उनकी दोस्ती किस-किस से थी? कौन-कौन करीब था? इस बारे में भी पता लगाया जा रहा है। प्रेम प्रसंग में हत्या की आशंका पर पुलिस अधिकारी हर बिंदु पर बारीकी से जांच कर रहे हैं। कुछ संदिग्ध युवकों की गतिविधियों के बारे में जानकारी जुटाकर वारदात से जोड़कर देखा जा रहा है।

गांव से फरार दो युवकों की तलाश

छानबीन में जुटी पुलिस को यह भी पता चला है कि गांव से दो युवक फरार हैं। घटना के बाद से ही दोनों गांव में नहीं दिखे। ऐसे में पुलिस और एसओजी की टीम उनकी तलाश कर रही है। उनके प्रतापगढ़ भागने की जानकारी मिली है, वहां की पुलिस से भी संपर्क किया गया है।

दोस्त से लंबी बात करता था प्रिंस

मोबाइल की कॉल डिटेल रिपोर्ट (सीडीआर) से पता चला है कि प्रिंस एक नंबर पर लंबी-लंबी बात करता था। इस पर पुलिस को शक हुआ कि वह कोई लड़की हो सकती है। हालांकि जब उस नंबर को ट्रेस किया गया तो पुरुष दोस्त का निकला। पुलिस विमलेश की दोनों बेटियां के मोबाइल की भी कॉल डिटेल निकलवा रही है।

क्या ऊषा फूल तोड़कर लाई थी

सनसनीखेज वारदात के बाद जब पुलिस घर के भीतर दाखिल हुई तो टूटे हुए फूल रखे थे। इस पर पुलिस व एसटीएफ ने लोगों से पूछताछ की तो पता चला कि विमलेश की पत्नी ऊषा रोजाना करीब तीन बजे के आसपास फूल तोडऩे के लिए घर से बाहर निकलती थी। ऐसे में इस सवाल का जवाब पुलिस तलाश रही है कि क्या घटना से पहले ऊषा फूलने तोडऩे गई थी।

डीआइजी और एसएसपी कर रहे मानिटरिंग

सामूहिक हत्याकांड के खुलासे के लिए स्थानीय पुलिस टीम के साथ ही एसएसपी ने कई टीम लगा रखी है। घटनास्थल की बारीकी से जांच करने के साथ ही पुलिस गांव में लगातार लोगों से पूछताछ कर रही है। सोरांव के यूसुफपुर गांव में हुए सामूहिक हत्याकांड का खुलासा नहीं होने और बरई हरख में हुए हत्याकांड का दाग पुलिस बर्दाश्त करने के मूड में नहीं है। पुलिस जल्द ही हत्यारों को गिरफ्तार करने के लिए हर बारीक बिंदु पर जांच कर रही है। पुलिस घटना से पहले और घटना से बाद के नंबरों की जांच कर रही है।

Edited By: Brijesh Srivastava