प्रयागराज, जेएनएन। नैनी के शातिर युवक ने देश के बड़े रीयल एस्टेट कारोबारी मुंबई निवासी डॉ. निरंजन हीरानंदानी की वाट्सएप पर फोटो लगाई। इसके बाद उसने मुकेश अंबानी के समधी अजय पीरामल समेत कई बड़े कारोबारियों से अपने नए कारोबार में सहयोग मांग रहा था। दूसरे कारोबारियों ने इसकी जानकारी डॉ. हीरानंदानी को दी तो वह सन्न रह गए। उन्होंने मुंबई के पवई थाने में केस दर्ज कराया। जांच के बाद मुंबई पुलिस को पता चला कि शातिर युवक नैनी के चक रघुनाथ का रहने वाला है। इस पर मुंबई पुलिस ने नैनी पुलिस के सहयोग से आरोपित मोहम्मद अरशद को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपित ने वाट्सएप पर रीयल एस्टेट के बड़े कारोबारी की फोटो लगाई थी

मुंबई पुलिस के सब इंस्पेक्टर यश पावले ने बताया कि आरोपित अरशद ने मुंबई से मोबाइल फोन खरीदा। वाट्सएप पर पवई निवासी निरंजन हीरानंदानी की फोटो लगाई। इसके बाद देश के बड़े कारोबारियों बाघवा बिल्डर्स, मुकेश अंबानी के समधी अजय पीरामल समेत कई कारोबारियों को वाट्सएप मैसेज करता था। साथ ही उनसे व्यक्तिगत मोबाइल नंबर और मेल आइडी मांगता था। उनसे बताता था कि वह नया कारोबार शुरू करने जा रहा है। उसमें सहयोग और मार्गदर्शन देने की बात करता था। कुछ लोगों ने मैसेज का जवाब भी दिया और उससे मिलने की बात कही। इस पर शातिर अरशद खुद के विदेश में होने की बात कहकर टाल जाता था।

मुंबई पुलिस के एसआइ यश पालवे प्रयागराज में आरोपित को पकड़ा

कुछ लोगों को शक हुआ तो डॉ. निरंजन हीरानंदानी से व्यक्गित संपर्क कर पूरी बात बताई। उनकी सूचना पर पवई पुलिस ने मुकदमा दर्ज जांच शुरू की। मोबाइल नंबर के आधार पर पुलिस ने ट्रैस किया तो आरोपित का आधार कार्ड मिला। दो दिन पहले मुंबई पुलिस के एसआइ यश पालवे प्रयागराज आए। यहां स्थानीय पुलिस की मदद से गुरुवार सुबह उसे गिरफ्तार कर लिया गया। इंस्पेक्टर नैनी ढाकेश्वर सिंह ने बताया कि मुंबई पुलिस मो. अरशद को पकड़कर ले गई है। उसने व्हाटसएप के जरिए कुछ धोखाधड़ी की है। आरोपित के एक भाई आइबी में हैं और एक भाई विदेश में डॉक्टर हैं।

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप