प्रयागराज, जेएनएन। प्रयागराज जिले में कौंधियारा के ग्राम पंचायत पिपरांव उर्फ कठौली कंचनवा के मजरा जुगुल का पूरा में सोमवार रात हुई सोनू यादव की हत्या में पुलिस ने पिता-पुत्र समेत चार आरोपितों को गिरफ्तार किया है। पूछताछ में पता चला कि सोनू ने वाट्सएप स्टेटस से आपत्तिजनक जातिसूचक गाना हटाने से मना कर दिया, जिसके बाद विवाद हुआ था।

वाट्सएप स्‍टेटस पर आपत्तिजनक गाना लगाने से मना किया था

जुगुल का पूरा गांव निवासी 23 वर्षीय सोनू यादव पुत्र रामराज ने अपने वाट्सएप के स्टेटस पर आपत्तिजनक जातिसूचक गाना लगाया था। यह बात गांव के ही प्रियम सिंह पुत्र शिवपाल सिंह को पता चली तो सोमवार को दिन में उसने व उसके भाई प्रीतम ने उसे फोन कर कहा कि इसे हटाओ नहीं तो ठीक नहीं होगा। इस पर सोनू ने कहा कि वह इसे नहीं हटाएगा, जो करना हो कर लेना। रात को जब प्रियम और सोनू का आमना-सामना हुआ तो इसी को लेकर विवाद हुआ और फिर कई लोगों ने सोनू को लाठी-डंडे से इतना पीटा कि अस्पताल में उसने दम तोड़ दिया था।

इन चारों आरोपितों को पुलिस ने पकड़ा

मामले में मृतक के छोटे भाई संदीप यादव की तहरीर पर प्रियम सिंह, उसके भाई प्रीतम सिंह, पिता शिवपाल सिंह व परिवार के श्याम सिंह उर्फ भुंवर सिंह के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई थी। इस मामले में पुलिस ने चारों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस का कहना है कि आरोपितों से पूछताछ के बाद उनको जेल भेज दिया गया है। गांव में तनाव को देखते हुए पुलिस और पीएसी के जवानों को तैनात किया गया है।

ट्विटर पर चलने लगा मैसेज

सोनू की हत्या को लेकर ट्विटर पर किसी ने मैसेज चला दिया। इसमें एक राजनैतिक दल के गाने को वाट्सएप स्टेटस पर लगाने पर वारदात होने की बात कही गई। जिस पर कई लोगों ने टिप्पणी भी की। इस ट्विटर पर भी पुलिस की नजर रही।

Edited By: Brijesh Srivastava