इलाहाबाद (जेएनएन)। समाजवादी पार्टी के टिकट पर 2004 में सांसद बने माफिया अतीक अहमद ने फूलपुर के लोकसभा उप चुनाव में निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में नामांकन कराया है। अतीक अहमद देवरिया में बवाल के साथ ही पूर्व विधायक राजू पाल की हत्या के मामले में इन दिनों देवरिया जेल में बंद है।

फूलपुर लोकसभा उपचुनाव के लिए यहीं से सांसद रहे बाहुबली अतीक अहमद ने आज अपना नामांकन पत्र दाखिल करवाया है। देवरिया जेल में बंद पूर्व सांसद अतीक अहमद ने आज निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर अपना नामांकन दाखिल किया। इलाहाबाद में आज अतीक अहमद के वकील खान शौलत हनीफ ने नामांकन दाखिल किया। करीब साल भर से बाहुबली पूर्व सांसद अतीक अहमद जेल में बंद हैं। इलाहाबाद के नैनी सेंट्रल जेल के बाद फिलहाल अतीक अहमद देवरिया जेल में बंद है।

फूलपुर लोकसभा क्षेत्र के उपचुनाव में पूर्व सांसद अतीक अहमद का भी नामांकन निर्दल प्रत्याशी के रूप में हुआ। उनके अधिवक्ता खान शौलत हनीफ ने दो सेट में पर्चा दाखिल किया। नामांकन पत्र दाखिल हो जाने पर अतीक अहमद को देवरिया जेल में वहां के वरिष्ठ अधीक्षक कारागार ने शपथ दिलाई।

अतीक पर दर्जनों मुकदमें हैं। शुआट्स के अधिकारियों पर हमले में अतीक इन दिनों देवरिया जेल में बंद हैं। अतीक अहमद 2004 में सपा से फूलपुर से सांसद भी चुने गए थे। देवरिया जिला कारागार में बंद अतीक अहमद जेल से ही फूलपुर लोकसभा क्षेत्र से उप चुनाव लड़ेंगे।

इसके लिए आज सुबह अतीक अहमद के अधिवक्ता आरबी सिंह ने जेल पहुंच अधीक्षक के समक्ष चुनाव लडऩे संबंधी कागजात प्रस्तुत किया। जिस पर जेल अधीक्षक दिलीप कुमार पांडेय ने अनुमति प्रदान करते हुए हस्ताक्षर किया। कागजी कार्रवाई पूरी करने के बाद अतीक के अधिवक्ता नामांकन के लिए सुबह आठ बजे फूलपुर के लिए रवाना हो गए।

नामांकन की प्रक्रिया पूर्ण होते ही जेल में बंद अतीक अहमद शाम तक चुनाव मैदान में उतर जाएंगे। बताया जा रहा है कि अतीक की पत्नी शाइस्ता परवीन ने अधिवक्ता के जरिये सोमवार को नामांकन पत्र की खरीदारी की थी। उधर अतीक अहमद के चुनाव मैदान में आने की खबर मिलते ही राजनीतिक हलकों में हलचल बढ़ गई है। देवरिया जेल प्रशासन ने अतीक के चुनाव लडऩे की बात सामने आने पर जेल की सतर्कता और बढ़ा दी है। 

 

Posted By: Dharmendra Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस