प्रयागराज, जागरण संवाददाता। कोरोना के कारण दो सालों से फीका रहे धनतेरस और दीपावाली के बाजार को इस बार बूस्टर डोज मिलने की उम्मीद है। इलेक्ट्रानिक्स कंपनियों ने त्योहारी सीजन में ग्राहकों को लुभाने के लिए आफरों की बौछार की हैं। ऐसे में ग्राहक भी इन आफरों का लाभ लेने से पीछे नहीं हैं। मौके का फायदा उठाते हुए अपने घरों और किचेन को सजाने में जुटे हैं। सहालग की खरीदारी भी हो रही है।

डेबिट और क्रेडिट कार्ड से भुगतान पर 15 हजार रुपये तक कैशबैक

किसी कंपनी द्वारा इलेक्ट्रानिक्स सामानों की खरीद पर डेबिट और क्रेडिट कार्ड से भुगतान करने पर 25 फीसद तो किसी कंपनी द्वारा सात से 15 हजार रुपये तक कैशबैक आफर दिया जा रहा है। इलेक्ट्रानिक्स शोरूमों और दुकानों पर फाइनेंस की भी सुविधा उपलब्ध है। इससे एसी, एलईडी, फ्रिज, वाशिंग मशीन, डिश वासर, माइक्रोवेब ओवेन आदि सामान किस्तों पर भी मिल रहे हैं। खास यह कि किस्तों पर ब्याज भी नहीं देना है। एसी, बड़ी एलईडी, डबल डोर फ्रिज, वाशिंग मशीन, डिशवासर, माड्यूलर किचेन की मांग ज्यादा है।

फ्लैटों में लग रही अधिक एसी

कोरोना के कारण दो साल से फ्लैटों में लोग शिफ्ट नहीं हुए थे। अब फ्लैट में शिफ्ट हो रहे हैं तो एसी भी लगवा रहे हैं, क्योंकि आर्द्रता अभी भी बनी है।

200 करोड़ रुपये के कारोबार का अनुमान

पिछले साल धनतेरस पर करीब 75 करोड़ रुपये का इलेक्ट्रानिक्स सामानों का कारोबार हुआ था। लेकिन, इस बार करीब 200 करोड़ रुपये तक कारोबार होने का अनुमान है। वर्ष 2020 की गर्मी और ठंड, 2021 की गर्मी की सहालग कोरोना के कारण खराब हो गई थी। इस बार की ठंड में हिंदुओं और मुस्लिमों (दोनों) की लग्न बहुत तेज है। त्योहार के बाद सहालग शुरू हो जाएगी। इसलिए त्योहार के साथ शादी के लिए भी लोग इलेक्ट्रानिक्स सामान खरीद रहे हैं। एलजी में स्टाइलर प्रेस, नैनो टीवी नया मॉडल आया है। इसमें पिक्चर बहुत साफ है।

प्रवीण मालवीय, पार्टनर आशा एंड कंपनी।

वाशिंग मशीन की नौ और फ्रिज की 12 हजार रुपये से शुरुआत है, जबकि एलईडी टेलीविजन 15 हजार से शुरू है। बजाज और एचडीएफसी के माध्यम से फाइनेंस की भी सुविधा है। क्रेडिट और डेविड कार्ड से भुगतान पर 25 फीसद तक कैशबैक आफर है।

विजय अग्रवाल, प्रोपराइटर मेगा इलेक्ट्रानिक्स।

अलग-अलग आइटम पर 20 फीसद तक कैशबैक आफर है। लैपटाप, किचेन चिमनी, होम अप्लायंसेज, एलईडी, वाशिंग मशीन की मांग ज्यादा है।

अभिलाष जैन, मालिक जैन इलेक्ट्रानिक्स।

Edited By: Ankur Tripathi