प्रयागराज, [रमेश यादव]। लोकसभा पोल संपन्न होने के बाद आदर्श चुनाव आचार संहिता हटने पर संगम नगरी के विकास कार्यों को पंख लगेंगे। शहर के विकास के लिए कई बड़े और महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट शुरू होने हैं। उसमें गंगा नदी पर सिक्स लेन पुल सहित इनर ङ्क्षरग रोड, मेट्रो का शिलान्यास और संगम पर रोप-वे प्रमुख हैं। शहर को जाम से मुक्ति दिलाने के लिए कुल 98 किलोमीटर की इनरङ्क्षरग रोड बननी है। 68 किलोमीटर की इनर रिंग रोड के लिए अभी भूमि अधिग्रहण का काम होना है। इसी रोड के अंतर्गत तीन पुल भी बनने हैं। 

राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण प्रोजेक्ट करेगा पूरा 

सभी कार्य भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा कराया जाएगा। केंद्र में फिर मोदी सरकार बनने से पांच हजार करोड़ की लागत से बनने वाले इनर रिंग रोड का काम तेज गति से होगा। तीन साल के भीतर इनर रिंग रोड बनने पर वाराणसी की गाडिय़ों को कानपुर जाने और मीरजापुर व रीवा से आने वाली गाडिय़ों को फाफामऊ जाने के लिए शहर में आने की जरूरत नहीं होगी। छोटी-बड़ी सभी गाडिय़ां शहर के बाहर से होकर गुजर जाएंगी।

मेट्रो प्रोजेक्ट का हो सकेगा शिलान्यास

संगम नगरी में मेट्रो रेल परियोजना प्रस्तावित है। मेट्रो प्रोजेक्ट की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) बनाकर शासन को भेजी जा चुकी है। प्रयागराज में तीन चरण में मेट्रो का काम होगा। पहले चरण में 42 किलोमीटर मेट्रो लाइन बिछाई जाएगी। इसमें बमरौली से अंदावा और नैनी से शांतिपुरम तक काम होगा। दूसरे चरण में इलाहाबाद हाईकोर्ट से लेकर एमएनएनआइटी तक मेट्रो रेल का काम होगा। तीसरे चरण का काम बाद में होगा। कुंभ मेला शुरू होने के पहले यहां आए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कहा था कि प्रयागराज में भी जल्द मेट्रो प्रोजेक्ट शुरू होगा।

सिक्स लेन का शुरू होगा काम

फाफामऊ में गंगा नदी पर लगने वाले जाम से निजात दिलाने के लिए मलाक हरहर से लेकर लाला लाजपत राय रोड क्रासिंग तक सिक्स लेन पुल बनना है। इसके लिए भूमि का अधिग्रहण हो चुका है। 9.9 किलोमीटर लंबे पुल को बनाने पर दो हजार करोड़ रुपये खर्च होंगे। तीन साल में काम पूरा होने पर बेली अस्पताल चौराहे से पुल के माध्यम से कोई भी व्यक्ति व्यक्ति सीधे मलाक हरहर तक पहुंच जाएगा। इससे लखनऊ और प्रतापगढ़ जाने वाले लोगों को सहूलियत हो जाएगी। 

संगम पर बनने वाले रोप-वे की प्रक्रिया होगी तेज

देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं को आकर्षित करने के लिए संगम पर रोप-वे भी बनना है। यह रोप-वे झूंसी के उल्टा किला से शुरू होकर सोमेश्वर महादेव मंदिर और वहां से त्रिवेणी पुष्प तक बनेगा। इन्हीं तीनों स्थानों पर यात्रियों को बैठने के स्टेशन भी बनेंगे। इसका डीपीआर तैयार हो चुका है।

अटके कामों में भी आएगी तेजी

कुंभ से पहले बेगम बाजार स्थित भगवतपुर रेलवे क्रासिंग पर रेलवे ओवर ब्रिज बनाया जा रहा था। आरओबी की ऊंचाई अधिक होने पर वायु सेना ने बमरौली एयरपोर्ट की सुरक्षा को खतरा बताकर काम पूरा नहीं होने दिया था। यह काम पूरा करने को लेकर रक्षा मंत्रालय में भी बातचीत हो चुकी है। इसका काम भी जल्द शुरू होने की संभावना है। इससे कौशांबी आने-जाने वाले लोगों को सहूलियत होगी। बेगम बाजार से एयरपोर्ट का रास्ता भी नजदीक हो जाएगा। इसके अलावा न्याय ग्राम को जोडऩे के लिए रेलवे ओवर ब्रिज का निर्माण होना है। इससे सूबेदारगंंज स्टेशन पर जाने वाले यात्रियों को सहूलियत होगी। अब रेलवे ओवर ब्रिज का काम भी तेजी पकड़ेगा।

वाटर मीटर लगाने का काम पकड़ेगा रफ्तार

शहर में अभी लोगों के घरों में पानी का मीटर नहीं लगा है। लोग बेहिसाब पानी खर्च करते हैं। अमृत योजना के अंतर्गत शहर में वाटर मीटर लगाए जाने हैं। इसका काम कुंभ के बाद शुरू तो हुआ था, लेकिन चुनाव आचार संहिता लागू होने पर रोक गया था। अब इसमें तेजी आएगी। शहर में लगभग दो लाख घरों में वाटर मीटर लगाए जाने हैं। इसके अलावा 24 घंटे जलापूर्ति की योजना का काम भी शुरू होना है। उसके लिए नई पाइप लाइन डालने के साथ ओवर हैड टैंक भी बनाए जाएंगे।

स्मार्ट सिटी के कामों में आएगी तेजी

कुंभ से पहले स्मार्ट सिटी के प्रथम चरण के सभी प्रमुख कार्य पूरे हो गए थे। उसमें आइसीसीसी, चौराहों पर कैमरे, नगर की गाडिय़ों में जीपीएस, आठ स्मार्ट सड़कों का काम मुख्य था। अब दूसरे चरण का काम शुरू होना है। इसकी भी शुरुआत स्मार्ट रोड से होगी। शहर में स्मार्ट वाटर एटीएम लगाने का काम अभी तक पूरा नहीं हो पाया है। स्मार्ट सिटी योजना के अंतर्गत 200 वाटर एटीएम लगाए जाने हैं। उसका काम भी तेज गति पकड़ेगा। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस