प्रयागराज, जेएनएन। यूं तो इन दिनों फेसबुक पर दोस्‍ती करने का प्रचलन सा हो गया है। हालांकि हमें दोस्‍ती करते समय इस बात का ध्‍यान रखना होगा कि अगला कहीं शातिर तो नहीं है वरना हम उसके जाल में फंसकर ठगी का शिकार बन सकते हैं। क्‍योंकि कुछ ऐसा ही मामला इन दिनों सामने आ रहा है। ठगी के शिकार लोग हाथ मलते रह जाते हैं। इसलिए अगर आप फेसबुक यूजर हैं और लोगों से दोस्ती करना पसंद हैं तो जरा संभलकर ही रहिए। कहीं ऐसा न हो कि किसी शातिर फेसबुक फ्रेंड के झांसे में आकर आप ठगी का शिकार हो जाएं।

साइ‍बर श‍ातिर सोशल मीडिया पर सक्रिय हैं

इन दिनों कई साइबर शातिर सोशल मीडिया पर सक्रिय हैं, जो अलग-अलग तरीके से लोगों को निशाना बना रहे हैं। किसी को गिफ्ट का प्रलोभन देकर तो किसी से झूठी मदद मांगने के बहाने ठग रहे हैं। शहर में रहने वाले कई लोगों के साथ ऐसी घटना हुई, जिन्होंने पुलिस थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है। इसके बाद पुलिस ने भी एडवाइजरी जारी करते हुए लोगों को सतर्क रहने की हिदायत दी है।

फेसबुक यूजर फंस गए ठगी के जाल में

धूमनगंज में रहने वाली सोनिया आडवाणी हाईकोर्ट में अधिवक्ता हैं। फेसबुक पर प्रिंस नाम की प्रोफाइल वाले व्यक्ति ने उनसे दोस्ती की। सोनिया के जन्मदिन से कुछ दिन पहले उस व्यक्ति ने मैसेंजर से बात करते हुए गिफ्ट देने की बात कही। गिफ्ट को विदेशी प्रोडक्ट बताते हुए शातिर व्यक्ति ने टैक्स के रूप में 25 हजार रुपये अपने बैंक खाते में डलवाए। गिफ्ट न मिलने पर जब सोनिया ने उस फेसबुक फ्रेंड से संपर्क करना चाहा तो नहीं हुआ। धोखाधड़ी का शिकार होने के बाद उन्होंने रिपोर्ट दर्ज कराई। कर्नलगंज में रहने वाले छात्र रोहित कुमार भी फेसबुक यूजर हैं। उनके कई फेसबुक फ्रेंड हैं। करीब दो माह पहले दोस्त ने नौकरी से संबंधित संदेश भेजा। साथ ही अच्छा पैकेज दिलाने की बात कहते हुए दस्तावेज मांगे। फिर उस शातिर ने आवेदन, कागजातों की जांच समेत अन्य काम का बहाना बनाकर बार में 30 हजार रुपये ठग लिए। नौकरी मिलना तो दूर छात्र को पैसे भी वापस न मिले तो उसने कर्नलगंज थाने पहुंचकर शिकायत दी।

  आपको यह सावधानी बरतनी होगी

- फेसबुक पर दोस्त के बारे में जानकारी कर लें।

- किसी तरह के प्रलोभन से हर हाल में बचें।

- बिना मिले फेसबुक फ्रेंड से लेनदेन न करें।

- फेसबुक के सभी दोस्तों पर पूरा भरोसा न करें।

  एसपी क्राइम ने कहा, जांच चल रही है, सतर्क रहने की जरूरत है

एसपी क्राइम आशुतोष मिश्रा कहते हैं कि सोशल मीडिया के फेसबुक जैसे दूसरे प्लेटफार्म के जरिए शातिर लोगों से ठगी कर रहे हैं। ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं, जिनकी जांच चल रही है। ऐसे लोगों से लोगों को सतर्क रहना चाहिए।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप