प्रयागराज, जेएनएन। जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 समाप्त होने के बाद शांति भंग की आशंका में गिरफ्तार पीडीपी के राज्य महामंत्री मोहम्मद इमरान अहमद डार को रविवार को नैनी सेंट्रल जेल से रिहा कर दिया गया है। वह अपने पिता और भाई के साथ कश्मीर के लिए रवाना हो गए।

अनुच्छेद 370 खत्म होने के बाद शांतिभंग में गिरफ्तार हुए थे इमरान

पीडीपी के राज्य महामंत्री मोहम्मद इमरान अहमद डार पर अनुच्छेद 370 खत्म होने के बाद विरोध-प्रदर्शन करने का आरोप था। शांति भंग की आशंका के मद्देनजर इमरान को वहां पर पांच अगस्त को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। 11 अगस्त को उन्हें 19 अन्य लोगों के साथ नैनी सेंट्रल जेल लाया गया था। उनमें एक बंदी की बीमारी से मौत भी हो चुकी है। जम्मू कश्मीर सरकार ने हालात सामान्य होने के बाद इमरान अहमद डार को रिहा करने का आदेश जारी किया।

केंद्र सरकार का इमरान ने जताया आभार, कहा-शक करना छोड़ दे

रविवार दोपहर जेल से बाहर आने पर उन्होंने खुशी जताई। रिहाई के वक्त उनके पिता इब्राहिम अहमद डार और भाई इरफान अहमद डार नैनी जेल के गेट पर मौजूद थे। इमरान ने अपनी रिहाई पर केंद्र सरकार का आभार जताया। साथ ही यह भी कहा कि सरकार जम्मू कश्मीर के लोगों और मुसलमानों पर संदेह करना छोड़ दे। सभी देश भक्त हैैं और उनका वतन हिंदुस्तान ही है।

सिद्धपोरा पाइन गांव के सरपंच भी हैैं इमरान

पीडीपी के राज्य महामंत्री मोहम्मद इमरान अहमद डार जम्मू कश्मीर में सिद्धपोरा पाइन गांव के सरपंच भी हैैं। नैनी सेंट्रल जेल में रिहाई के दौरान जेल के अधिकारी व सिपाही भी मौजूद रहे।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस