प्रयागराज, जेएनएन। रेल यात्रियों को सभी आधुनिक सुविधाएं मिलें, इसके लिए प्रोजेक्ट उत्कृष्ट के अंतर्गत ट्रेनों को अपग्रेड किया जा रहा है। उत्तर मध्य रेलवे (एनसीआर) बुंदेलखंड एक्सप्रेस और इलाहाबाद-जयपुर एक्सप्रेस को अपग्रेड कर चुका है। अब संगम एक्सप्रेस, लिंक एक्सप्रेस में सफर करना आरामदायक यात्रियों के लिए होगा।  इसमें यात्रा करने वाले लोगों को आधुनिक सुविधाएं मिलेंगी। साथ ही छह जोड़ी अन्य ट्रेनों को अपग्रेड किया जा रहा है। दिसंबर तक यह काम पूरा हो जाएगा।

प्रोजेक्ट उत्कृष्ट के माध्यम से ट्रेनों को अपग्रेड किया जा रहा है

वीआइपी ट्रेनों को छोड़कर अन्य ट्रेनों में चलने वाले यात्रियों की शिकायत रहती है कि सीटें आरामदायक नहीं हैं। लाइटें पुरानी हैं। उसकी रोशनी अच्छी नहीं है। शौचालयों में सफाई पर ध्यान नहीं दिया जाता। रेलवे यात्रियों की शिकायतों का निस्तारण प्रोजेक्ट उत्कृष्ट के माध्यम से कर रहा है। इस प्रोजेक्ट से ट्रेनों को अपग्रेड किया जा रहा है। कोचों में ऑन बोर्ड क्लीननेश, कूड़े का बैग, पीवीसी फ्लोर, सीट का पैनल, एलईडी लाइट, डिस्प्ले बोर्ड, वातानुकूलित कोचों में सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं।

आरटीआइ में उप मुख्य यांत्रिक इंजीनियर ने दी जानकारी

उत्तर मध्य रेलवे में कितनी ट्रेनों को अभी तक अपग्रेड किया गया है, कितनी ट्रेनों को किया जा चुका है। इसकी जानकारी एनसीआर से आरटीआइ में मांगी गई। उप मुख्य यांत्रिक इंजीनियर ने आरटीआइ के तहत बताया है कि दो जोड़ी ट्रेनें अपग्रेड हो गई हैं। इलाहाबाद से मेरठ सिटी जाने वाली संगम एक्सप्रेस, हरिद्वार जाने वाली लिंक एक्सप्रेस, आगरा फोर्ट-अजमेर इंटरसिटी, रतलाम-ग्वालियर इंटरसिटी एक्सप्रेस, झांसी-बांद्रा टर्मिनस एक्सप्रेस, बरौनी-छपरा मेल को दिसंबर तक अपग्रेड कर लिया जाएगा।

जागरण का यह है विचार

संगम एक्सप्रेस को अपग्रेड किया जा रहा है। यह अच्छी पहल है। मगर संगम एक्सप्रेस रोजाना तीन से चार घंटे लेट चलती है। तमाम कोशिशों के बावजूद इसकी लेटलतीफी खत्म नहीं हो पा रही है। इसलिए एनसीआर को इस पर भी विशेष ध्यान देने की जरूरत है। यात्री ट्रेन में सुविधा तो चाहते हैं, साथ ही ट्रेन बिना विलंब अपने गंतव्य पर पहुंचे। यह भी उम्मीद करते हैं।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप