प्रयागराज, जेएनएन। पड़ोसी जनपद कौशांबी के सराय अकिल थाना इलाके में छप्पर गिरने से हादसा हुआ। इसकी जद में आने से एक व्यक्ति, उसका पुत्र और साला गंभीर रूप से जख्मी हो गए। परिवार के लोग तीनों को निकट के अस्पताल में ले गए। वहां अधेड़ व्यक्ति की मौत हो गई, जबकि गंभीर अवस्था में अन्य दो को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

बल्ली टूटने से छप्पर तीनों पर गिरा था, दोनों घायल जिला अस्पताल में भर्ती

सराय अकिल थाना क्षेत्र के कुंडारी पर गांव में स्वर्गीय गोपी शरण के 55 वर्षीय पुत्र सत्य नारायण कुशवाहा परिवार के साथ रहते थे। वह खेती-किसानी करते थे। अपने घर के सामने सत्य नारायण ने बल्ली के सहारे छप्पर लगाया था। मंगलवार की रात में छप्पर के नीचे गोपी शरण, उनका पुत्र संजय व रिश्ते में साला भैरव निवासी चौराडीह बैठे थे। इसी बीच अचानक बल्ली टूट गई और तीनों छप्पर के नीचे दब गए। चीख-पुकार सुनकर मौके पर जुटे ग्रामीणों और परिवार के लोगों ने किसी तरह उन्हें बाहर निकाला और नजदीक के अस्पताल ले गए।

राजस्व विभाग की टीम ने गांव में जाकर मौका मुआयना किया

अस्पताल में सत्य नारायण को डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। वहीं गंभीर रूप से जख्मी संजय और भैरव को जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव कब्जे में ले लिया। वहीं जानकारी होने पर राजस्व टीम भी गांव में पहुंची और मौका मुआयना किया।

बाइक की टक्कर से राष्ट्रीय पक्षी मोर जख्मी

मेजा के रामनगर स्थित बुड़ारेपुर गांव में बाइक की टक्‍कर से राष्‍ट्रीय पक्षी मोर गंभीर रूप से जख्‍मी हो गया। जानकारी होने पर गांव के राम कैलाश भारतीय एवं उनकी पत्नी राम कली ने प्रारंभिक इलाज किया। इसके बाद मोर को रामनगर के पशु अस्पताल वह ले गए। अस्पताल कर्मी देवानंद ने मोर का इलाज करते हुए वन विभाग के अधिकारियों की सूचना दी। अस्पताल पहुंचे वन दरोगा दारा सिंह एवं वन रक्षक अनुपम पांडेय मोर को जंगल में छोडऩे के लिए अपने साथ ले गए।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस