प्रयागराज, जेएनएन। बाजार से रक्षाबंधन त्योहार के लिए घर लाया गया रसगुल्ला खाने से प्रतापगढ़ में डेढ़ वर्षीय बच्ची सहित आधा दर्जन लोग बीमार हो गए। हालत बिगड़ने पर सभी को उपचार के लिए  सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गौरा लाया गया। वहां से बच्चे सहित दो लोगों को जिला अस्पताल रेफर किया गया है। अन्य तीन लोगों का उपचार गौरा अस्पताल में चल रहा है। आशंका है कि रसगुल्ला मिलावटी और कई दिन बासी था।

मीरपुर व नंदलाल का पूरा गांव के कुछ लोगों ने रामापुर बाजार से गुरुवार शाम रक्षाबंधन त्योहार के लिए मिठाइयों की खरीदारी की थी। कुछ लोगों ने रसगुल्ला खरीदा था। राखी बांधने के बाद शुक्रवार को जब परिवार के लोगों ने रसगुल्ला खाया तो उनकी हालत बिगड़ गई। उल्टी दस्त शुरू हो गई आनन-फानन परिवार के लोग इन सभी को गौरा स्थित अस्पताल लेकर आए जहां उपचार के लिए सभी को भर्ती कराया गया।

बीमार हुए लोगों में श्रेया तिवारी 13 वर्ष पुत्री तहसीलदार गांव नंदलाल का पूरा, अंकित 14 वर्ष पुत्र राम अभिलाष, खुशी गौतम 16 वर्ष, आरती 23 वर्ष पत्नी विनोद कुमार और उनकी बेटी विधि डेढ़ वर्ष निवासी मानपुर, घाटमपुर जौनपुर, पवन यादव 26 वर्ष आमापुर बेर्रा शामिल हैं। इनमें डेढ़ साल की बच्ची विधि और 13 वर्ष की श्रेया की हालत ज्यादा खराब होने पर उन दोनों को जिला अस्पताल रेफर किया गया है। अस्पताल में भर्ती आरती ने बताया कि वह अपनी डेढ़ वर्षीय बेटी विधि को लेकर भाई को राखी बांधने के लिए जौनपुर से मायके आई थी। दिखने में रसगुल्ला में कोई खऱाबी नहीं नजर आ रही थी। उसे क्या पता कि रसगुल्ला खाने पर यह हालत हो जाएगी। फिलहाल अन्य तीनों का उपचार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गौरा में ही चल रहा है। स्वजनों का कहना है कि मिठाई की खरीदारी रामापुर बाजार एक मिठाई के दुकान से की गई थी। यह मिठाईयां खाने के बाद ही घंटे भर बाद सब की हालत बिगड़ने लगी तो अस्पताल लाया गया है।

उधर, अधीक्षक डॉक्टर ओपी सिंह का कहना है कि मामला फूड प्वाइजनिंग का लग रहा है। दो बच्चों को जिला अस्पताल रेफर किया गया है। अन्य का उपचार चल रहा है ‌।

रसगुल्ला खाने के बाद बीमार होने पर जब 5 लोग अस्पताल पहुंचे तो हड़कंप मच गया । बीमार लोगों के स्वजनों ने इसकी सूचना 112 डायल पुलिस को दी तो रामापुर बाजार पहुंची। 112 डायल पुलिस ने एक दुकानदार से पूछताछ के दौरान उसे थाने ले गई तो अफरा तफरी मच गई । ज्यादातर मिठाइयों की दुकानें बाजार में बंद हो गई । थानाध्यक्ष रविंद्र कुमार तिवारी का कहना है कि हंड्रेड डायल पुलिस एक दुकानदार को थाने ले  आई है पूछताछ के लिए बिठाया गया है ।

अस्पताल जाकर SDM ने ली जानकारी

फूड प्वाइजनिंग की जानकारी उप जिलाधिकारी रानीगंज संगम लाल को मिली तो वह बीमार लोगों का हाल देखने अस्पताल पहुंचे। भर्ती मरीजों के उपचार की व्यवस्था की जानकारी ली और अस्पताल के अधीक्षक को निर्देशित किया कि जिन जिन गांव में मिठाई खाने से लोग बीमार हो रहे हैं वहां टीम लगाकर सबके स्वास्थ्य परीक्षण कराए जाएं। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए। फूड इंस्पेक्टर को भी बाजार की मिठाई की दुकानों के सैंपलिंग करने के निर्देश दिए ।

Edited By: Ankur Tripathi