प्रयागराज,जेएनएन। यूपी के प्रतापगढ़ जिले में आंगनबाड़ी केंद्रों के लाभार्थियों को अब टोकन के माध्यम से ड्राईराशन(गेहूं,चावल) दिया जाएगा। राशन वितरण के समय आंगनबाड़ी कार्यकर्ता मौजूद रह कर उनके हस्ताक्षर अपने वितरण पंजिका पर प्राप्त करेंगे।

आंगनबाड़ी केंद्र के लाभार्थियों के लिए माह अप्रैल, मई और जून 2021 का आवंटन कोटेदारों को प्राप्त हो चुका है। इस बार स्वयं सहायता समूह के अध्यक्ष द्वारा अब कोटेदारों से गेहूं चावल का उठान नहीं किया जाना है। आंगनबाड़ी कार्यकर्ती लाभार्थियों के नाम का टोकन जारी करेंगी। इसमें लाभार्थी का नाम, पता, माता का नाम और आधार नंबर लिखा होगा। टोकन के आधार पर लाभार्थी सीधे कोटेदार से अपना खाद्यान्न प्राप्त करेगा। इस प्रक्रिया में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता उपस्थित रहेंगे। वह लाभार्थियों से अपने वितरण पंजिका पर हस्ताक्षर भी प्राप्त करेंगे।

पूर्व में समूह के लोग कोटेदार से ड्राईराशन प्राप्त कर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को उपलब्ध कराते थे। आंगनबाड़ी कार्यकर्ता उसे लाभार्थियों को बुलाकर वितरण पंजिका में उनके हस्ताक्षर कराकर वितरित किया करते थे। समूह के माध्यम से राशन वितरण की व्यवस्था बीते दिसंबर माह से शुरू की गई थी। इसके पहले आंगनबाड़ी में पंजीकृत सात माह से तीन वर्ष, तीन से छह वर्ष के बच्चों के साथ ही गर्भवती व धात्री महिलाओं को पोषाहार दिया जाता था। इसमें मीठी दलिया व नमकीन दलिया के पैकेट दिए जाते थे। दिसंबर माह से इसमें बदलाव किया गया और इन सभी लाभार्थियों को ड्राई राशन दिया जाने लगा था। समूह के सदस्य कोटेदारों के यहां से राशन व बाजार से दाल लेकर उसका पैकेट बनाकर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को उपलब्ध कराते थे। डीपीओ पवन यादव ने बताया कि जिले के आंगनबाड़ी केंद्रों पर अब आंगनबाड़ी के लाभार्थियों को टोकन के माध्यम से ड्राईराशन दिया जाएगा। उन्होंने कार्यकर्ताओं से टोकन दे कर गेहूं व चावल लाभार्थियों को दिलाने का निर्देश दिया है।

Edited By: Rajneesh Mishra