प्रयागराज, जागरण संवाददाता। प्रयागराज में एक जज के भतीजे की सगाई से हीरे के आभूषण उड़ाने वाले जैकी गैंग की सरगना बीना बाई व संगीता, राजेंद्र कुमार की तलाश तेज हो गई है। इन अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस की एक टीम मध्य प्रदेश के राजगढ़ के लिए रवाना हुई। उधर चोरों को किराए पर कमरा देने वाला कुख्यात सटोरिया पंकज सिंह भी बांदा भाग निकला है। उसे पकड़ने के लिए भी एसओजी की टीम जाल बिछा रही है।

गिरफ्तारी पर सट्टा से जुड़े अहम राज खुल सकते हैं : प्रयागराज पुलिस का मानना है कि पंकज की गिरफ्तारी पर सट्टा से जुड़ा कई अहम राज सामने आ सकते हैं। बता दें कि मंगलवार को पुलिस ने गैंग के जैकी कुमार सांसी, कुनाल, कोहिनूर, संतोष और रामू पटेल को गिरफ्तार करते हुए जेल भेजा था।

जैकी की नानी है गैंग सरगना बीना बाई : गिरफ्तार गैंग सदस्‍यों से पूछताछ में पुलिस को पता चला था कि गिरोह की सरगना कड़िया, बोड़ा, राजगढ़ निवासी बीना बाई है, जो जैकी की नानी है। उसी ने जैकी को चोरी करने के तौर तरीकों के बारे में बताया था। फिर गिरोह में अलग-अलग लोगों को शामिल किया। गैंग में शामिल कुल नौ लोगों में बीना के अलावा कड़िया गांव की ही संगीता, उसका पति राजेंद्र कुमार व सटोरिया पंकज फरार हैं। इनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमों को भेजा गया है।

डिलीट किया था वाट्सएप चैट : पुलिस का कहना है कि पंकज का साथी पकड़े जाने से कुछ देर पहले ही अपने वाट्सएप की चैट को डिलीट कर दिया था। ऐसे में उसका किस-किस से संपर्क था और कैसी बाते होती थीं, इसका पता नहीं चल पा रहा है। इस संबंध में एसएसपी अजय कुमार का कहना है कि फरार अभियुक्तों को जल्द ही दबोच लिया जाएगा।

Edited By: Brijesh Srivastava