प्रयागराज, जेएनएन। पिछले दो दिनों से इलाहाबाद विश्वविद्यालय में हुए बवाल और भारी विरोध के बीच बुधवार को छात्र परिषद चुनाव के लिए नामांकन शुरू हुआ। सुरक्षा के मद्देनजर समूचा परिसर छावनी में तब्दील है। कैंपस के लगभग सभी स्थानों पर फोर्स तैनात है। किसी भी विरोध व प्रदर्शन को रोकने के लिए फोर्स तैयार है। फिलहाल सुबह आठ बजे से नामांकन शुरू है लेकिन अभी तक माहौल शांत है। केपीयूसी गेट पर प्रोटोरियल बोर्ड के सदस्य और चीफ प्रॉक्टर प्रोफेसर राम सेवक दुबे भी मौजूद हैं। वहीं चौराहों पर भी फोर्स तैनात है।

कक्षा प्रतिनिधि के लिए दो उम्मीदवार कर चुके हैं नामांकन

बुधवार की सुबह नौ बजे से कक्षा प्रतिनिधि के लिए लाल पद्मधर भवन (छात्रसंघ भवन) पर नामांकन शुरू हो गया है। अभी तक कक्षा प्रतिनिधि के लिए दो उम्मीदवारों ने नामांकन किया है। अपराह्न दो बजे तक नामांकन होगा। शाम पांच बजे नामांकित प्रत्याशियों की सूची वेबसाइट पर जारी की जाएगी। इसके बाद 17 अक्टूबर को लाल पद्मधर भवन पर सुबह 10 बजे से अपराह्न दो बजे तक नाम वापसी और नामांकन के संबंध में आपत्ति दर्ज कर सकते हैं।

नामांकित प्रत्याशियों की अंतिम सूची का प्रकाशन आज ही होगा

शाम पांच बजे नामांकित प्रत्याशियों की अंतिम सूची का प्रकाशन वेबसाइट पर होगा। यह प्रक्रिया पूरी होने के बाद 18 व 19 अक्टूबर को नामांकन फार्म की जांच होगी। 20 अक्टूबर को शाम पांच बजे प्रत्याशियों की अंतिम सूची का प्रकाशन होगा। दूसरे चरण में 21 अक्टूबर को सुबह आठ बजे से अपराह्न दो बजे तक सीनेट हाउस एवं महिला कॉलेज परिसर में कक्षा प्रतिनिधि का मतदान प्रत्यक्ष तौर पर होगा। शाम चार बजे केंद्रीय पुस्तकालय में मतपत्रों की गणना होने के बाद चुनाव परिणाम की घोषणा होगी।

कला संकाय की कक्षाएं आज स्थगित

छात्र परिषद चुनाव के लिए बुधवार को नामांकन हो रहा है। ऐसे में कला संकाय का शिक्षण कार्य स्थगित किया गया है। यह जानकारी इविवि के कुलसचिव प्रोफेसर एनके शुक्ला ने दी। उन्होंने बताया कि इसके बाद कक्षाएं सुचारू रूप से समय के अनुसार चलेंगी।

इविवि में हुई बैठक के बाद नामांकन प्रक्रिया शुरू करने पर बनी सहमति

यूं तो दो दिनों तक इविवि में हुए बवाल, लाठीचार्ज, पथराव और तोडफ़ोड़ हुआ। इसके साथ ही विरोध करने वाले छात्रों की गिरफ्तारी भी हुई। इसके बाद तो ऐसा प्रतीत हो रहा था छात्र परिषद का चुनाव ही कहीं रोक न दिया जाए। हालांकि ऐसा हुआ नहीं। मंगलवार को इविवि में हुए बवाल के बाद डीएम और एसएसपी ने कुलसचिव प्रोफेसर एनके शुक्ला और चुनाव अधिकारी प्रोफेसर आरके सिंह के साथ बैठक की। बैठक में विमर्श करने के बाद बुधवार को छात्र परिषद के नामांकन का निर्णय लिया गया।

इविवि प्रशासन को जिला और पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा का आश्वासन दिया

इविवि के कुलसचिव प्रोफेसर एनके शुक्ला ने बताया कि छात्र परिषद के लिए नामांकन के संदर्भ में जिला और पुलिस प्रशासन से वार्ता हो गई है। इविवि प्रशासन को आश्वस्त किया गया है कि सुरक्षा में कोई कमी नहीं रहेगी। उन्होंने यह भी कहा कि यदि कोई अराजकतत्व चुनाव में बाधा पहुंचाने का कार्य करेंगे तो प्रशासन उनसे सख्ती से निपटेगा। प्रोफेसर शुक्ला ने कहा कि सभी छात्र-छात्राएं निडर होकर चुनाव में हिस्सा लें। यदि किसी को परेशान किया जाता है तो वह प्रॉक्टर ऑफिस में फौरन सूचना दें।

 

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस