प्रयागराज, जेएनएन। नगर निगम अब गृहकर की बढ़ी दरें अप्रैल 2020 से लागू करेगा। गृहकर की नई दरों का प्रकाशन वार्ड वार अगले सप्ताह होने की संभावना है। नगर निगम अधिकतम 80 फीसद गृहकर बढ़ाने जा रहा है। इससे पहले पांच गुना तक गृहकर बढ़ाने की योजना थी। मिट्टी से बने मकानों पर 25 फीसद ही टैक्स बढ़ाया जाएगा।

निगम की छह सदस्यीय कमेटी ने गृहकर की नई दरों को निर्धारण किया

पिछले सप्ताह महापौर अभिलाषा गुप्ता नंदी की अध्यक्षता में नगर निगम में हुई बैठक में छह सदस्यीय कमेटी ने गृहकर की नई दरों को निर्धारण किया। कमेटी ने निर्णय लिया था कि नगर निगम 80 फीसद से अधिक गृहकर नहीं बढ़ाएगा। पहले पांच गुना यानी 500 फीसद तक गृहकर बढ़ाने की योजना थी। इसका पार्षदों ने विरोध किया था। नगर निगम सदन की बैठक में मुद्दा उठने के बाद गृहकर की दरों को निर्धारित करने के लिए महापौर की अध्यक्षता में छह सदस्यीय कमेटी बनाई गई थी।

बोले निगम के मुख्य कर निर्धारण अधिकारी

नगर निगम के मुख्य कर निर्धारण अधिकारी पीके मिश्र का कहना है कि कमेटी द्वारा जो दरें निर्धारित की गई हैं, उसका प्रकाशन वार्ड वार शीघ्र किया जाएगा। गृहकर की नई दरें एक अप्रैल से लागू की जाएंगी। एक अक्टूबर से इसे लागू करना संभव नहीं है।

2.15 लाख भवन स्वामी जमा करते हैं गृृहकर

नगर निगम में 2.15 भवन स्वामी गृहकर जमा करते हैं। इसमें से 10 हजार भवन स्वामी ऐसे हैं, जिनके मकान कच्चे हैैं। गृहकर की नई दरों के अनुसार उन्हें 25 फीसद अधिक गृहकर देना होगा। अन्य मकानों पर अधिकतम 80 फीसद गृहकर ही बढ़ेगा।

मकान मालिक बढ़ाने जा रहे थे अक्टूबर से किराया

नगर निगम अभी तक एक अक्टूबर से नई गृहकर की दरों को लागू करने की योजना में था। इसलिए मकान मालिकों ने भी किराया बढ़ाने की तैयारी कर ली थी। जो कमरा अभी तक 3000 हजार रुपये में मिल रहा था। उसका किराया 3500 रुपये करने की योजना थी। किराये में 15 से 20 फीसद तक बढ़ोतरी करने की योजना मकान मालिकों की है। गृहकर की नई दरें अब अप्रैल से लागू होंगी, ऐसे में मकान मालिकों को किराया बढ़ाने के बारे में विचार करना पड़ेगा।

Posted By: Brijesh Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप