प्रयागराज, जेएनएन। कोरोना वायरस संक्रमण का प्रकोप एक बार फिर प्रयागराज में भी बढऩे लगा है। ऐसे में लोगों की लापरवाही भारी पड़ सकती है। प्रयागराज जंक्शन पर ट्रेन आने के पहले प्लेटफार्म पर यात्रियों का जमावड़ा है। ज्यादातर ने मास्क नहीं लगाया है। फिजिकल डिस्टेंसिंग यानी शारीरिक दूरी का पालन नहीं किया जा रहा है।

मुंबई और दिल्ली से आने वाली ट्रेनों में भीड़

मुंबई और दिल्ली से आने वाली ट्रेनों से बड़ी संख्या में लोग लौट रहे हैं। मास्क नहीं लगाने और फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने से स्थिति भयावह हो सकती है। प्रयागराज जंक्शन पर यात्रियों का कोविड टेस्ट और स्क्रीनिंग की जा रही है। यात्रियों को मास्क लगाने और फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए बार-बार उद्घोषणा भी की जा रही है। फिर भी देखा जा रहा है कि ट्रेन के प्लेटफार्म पर रुकते ही लोग इधर-उधर से निकल जा रहे हैं।

लापरवाही का खामियाजा भुगतना पड़ सकता है

कोविड जांच कराने के नाम पर भी रेल यात्री कतराते हैं। जबकि संक्रमण की चेन तोडऩे के लिए सिटी साइड से प्रवेश और सिविल लाइंस साइड से निकासी की व्यवस्था लागू है। इसके लिए लगातार उद्घोषणा भी कराई जा रही है। जिला स्वास्थ्य विभाग की टीम दो शिफ्ट में आरटीपीसीआर व एंटीजन जांच कर रही है। हालांकि यह व्यवस्था भी नाकाफी साबित हो रही है। संक्रमण की दूसरी लहर का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में लोगों की लापरवाही का खामियाजा भुगतना पड़ सकता है।

आरपीएफ और जीआरपी कर रही जागरूक

प्लेटफार्म पर लोगों को जागरूक किया जा रहा है। आरपीएफ और जीआरपी के जवान लगातार कोविड प्रोटोकाल का अनुपालन करने की अपील कर रहे हैं। हालांकि यात्रियों की लापरवाही चरम पर है। बगैर मास्क स्टेशन के अंदर प्रवेश नहीं दिया जा रहा है। फिर लोग अपनी हरकत से बाज नहीं आ रहे हैं।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021