प्रयागराज, जेएनएन। कोरोना वायरस से बचाव के लिए उत्तर मध्य रेलवे (एनसीआर) अपने कर्मचारियों और उनके परिजनों के लिए मास्क और सैनिटाइजर तैयार कर रहा है। रेलवे बोर्ड से अनुमति मिलने के बाद इसकी बाजार में भी सप्लाई की जाएगी। आपात स्थिति के लिए 290 आइसोलेशन कोच भी तैयार किए जा रहे हैैं।

कोचिंग डिपो और वर्कशॉप में चल रहा मास्‍क और सैनिटाइजर बनाने का काम

कोरोना संक्रमण का प्रकोप बढऩे पर मास्क और सैनिटाजइर की डिमांड अधिक है। ऐसे में रेलवे ने अपने कर्मचारियों और उनके स्वजनों के लिए उक्त सामग्री बनानी शुरू की है। एनसीआर के कोचिंग डिपो और वर्कशॉप में यह काम चल रहा है। इस सप्ताह  एनसीआर में लगभग 60 हजार कर्मियों के लिए मास्क तैयार हो जाएगा। फिर मास्क और सैनिटाइजर बाजार में सप्लाई के लिए तैयार किए जाएंगे।

290 आइसोलेशन कोच बनाएगा एनसीआर

रेलवे बोर्ड ने सभी जोनों को युद्ध स्तर पर तैयारी रखने का निर्देश दिया है। जितनी मेडिकल सुविधाओं की जरूरत है, उतने उपकरण खरीदने का भी निर्देश है। स्लीपर कोच को आइसोलेशन कोच में तब्दील किया जा रहा है। एनसीआर को 290 आइसोलेशन कोच बनाने का निर्देश मिला है, इसकी तैयारी शुरू कर दी गई है। उत्तर मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी अजीत कुमार सिंह के अनुसार रेलवे बोर्ड का निर्देश हैं कि कोरोना वायरस से लडऩे के लिए जितने मेडिकल उपकरण की जरूरत है, उसे खरीदा जा सकता है। चिकित्सा की योग्यता रखने वाले रेल कर्मियों की अलग सूची भी तैयार की जा रही है। मास्क और सैनिटाजइर तैयार हो रहा है। बाजार में इसकी सप्लाई से पहले बोर्ड से अनुमति ली जाएगी।

Posted By: Brijesh Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस